February 24, 2024

सबरीमाला में महिलाओं की एंट्री पर राहुल गांधी ने बदली राय, कहा- श्रद्धालुओं का तर्क भी गलत नहीं

सबरीमाला में महिलाओं की एंट्री पर राहुल गांधी ने बदली राय, कहा- श्रद्धालुओं का तर्क भी गलत नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को यह स्वीकार किया कि केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री पर उन्होंने अपना स्टैंड बदल लिया है. मंदिर में मासिक धर्म के उम्र वाली महिलाओं के प्रवेश का खुले तौर पर समर्थन कर चुके राहुल गांधी ने कहा कि विरोध प्रदर्शन करने वाले श्रद्धालुओं  के तर्क भी गलत नहीं हैं.

गल्फ न्यूज की खबर के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष ने दुबई में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि अब उन्हें लगता है कि मंदिर में महिलाओं को प्रवेश नहीं देने की परंपरा के लिए प्रदर्शन करने वालों के तर्क भी उचित हैं. मैं दोनों ही तर्कों की वैधता को समझता हूं… इसलिए इस मामले में सपाट बात नहीं कह सकता कि यही होना चाहिए… मैं इसे केरल की जनता पर छोड़ता हूं कि वे क्या तय करते हैं.”वहीं इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक राहुल गांधी ने सबरीमाला पर अपना पक्ष बदलने की बात स्वीकार की.राहुल गांधी और पार्टी के केरल के नेताओं ने पिछले दिनों महिलाओं के प्रवेश के विरोध में प्रदर्शन करने वाले हिंदुत्व समूहों पर जमकर हमला बोला था.गांधी के हालिया बयान को आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के सॉफ्ट हिंदुत्व अप्रोच के तौर पर देखा जा रहा है.

इस कार्यक्रम में राहुल गांधी ने निर्मला सीतारमन पर की गई अपनी टिप्पणी का बचाव भी किया. उन्होंने कहा कि वह बयान उन्होंने इसलिए नहीं दिया कि निर्मला सीतारमन एक महिला हैं. राहुल ने कहा कि बीजेपी को अपनी महिला विरोधी सोच उन पर नहीं थोपनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सीतारमन की जगह कोई पुरुष होता तब भी वह वही टिप्पणी करते.

You may have missed