भाजपा मुक्त हुआ बस्तर,चित्रकोट में कांग्रेस को 17853 मतों से मिली जीत

जगदलपुर
चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव कांग्रेस ने भाजपा को 17853 मतों से हराकर जीत ली है।  कांग्रेस के प्रत्याशी राजमन बेंजाम को 62050 को और भाजपा के लच्छूराम कश्यप को 44197 मत प्राप्त हुए हैं। एक चक्र को छोड़कर कांग्रेस प्रत्याशी ने हर चक्र में बढ़त बनाये रखी। कांग्रेस को प्रथम चक्र में 3064, दूसरे चक्र में 3855, तीसरे चक्र में 3232, चौथे चक्र में 4032, पांचवे चक्र में 3842, छठवें चक्र में 3121, सातवें में 2866, आठवे चक्र में 2885, दसवें चक्र में 5086, 11वें चक्र में 4341, तेरहवें चक्र में 3158, चौदहवें चक्र में 3644, पन्द्रहवें चक्र में 3432 मत पाकर कांग्रेस प्रत्याशी राजमन बेंजाम विजयी रहे।

चित्रकोट उपचुनाव जीतने के बाद कांग्रेस की एक बार फिर आदिवासी अंचल बस्तर में पुरजोर वापसी हुई है। एक समय था जब बस्तर में मानकूराम सोढ़ी, अरविंद नेताम, महेन्द्र कर्मा जैसे नेताओं के रहते कांगे्रस की तूती बोलती थी। आदिवासी यदि किसी नेता को जानते थे तो वे सिर्फ इंदिरा गांधी और राजीव गांधी। भाजपा की ओर से बलीराम कश्यप ने राजनीति की नई शुरूआत की जिसे  उनके बेटे केदार कश्यप,दिनेश कश्यप ने आगे बढ़ाया इस बीच राजपरिवार को भी जोड़ा और कुछ नए क्षत्रप शामिल हुए। लेकिन जब 15 साल सूबे में डा.रमनसिंह का नेतृत्व रहा कांग्रेस को यहां लगातार खासा नुकसान उठाना पड़ा। कुछ समय के लिए कर्मा ने भी कांग्रेस से राह अलग कर ली थी। फिर भी कांग्रेस के यदि वापसी की बात करें तो झीरम घाटी नक्सल हमले में जब कांग्रेस ने अपनी एक पीढ़ी ही खो दी,सुरक्षा की चूक और नक्सलियों के खिलाफ आक्रोश को लेकर कांगे्रस ने झंडा उठाया और इसके लंबरदार रहे भूपेश बघेल,जिन्होने काफी मेहनत की। उन्होने दो टूक कहा कि र्प्रदेश में कांग्रेस की वापसी बस्तर से होगी और यही हमारे शहीद नेताओं को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।  दिसंबर 2018 के चुनाव में एकमात्र दंतेवाड़ा की सीट को छोड़कर बाकी पर कांग्रेस ने जीत दर्ज करायी थी और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बन गई।

लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा विधायक भीमा मंड़ावी की नक्सल हत्या और चित्रकोट विधायक दीपक बैज के सांसद चुन लिए जाने के कारण दंतेवाड़ा व चित्रकोट की सीट पर विधानसभा उपचुनाव हुए लेकिन दोनों ही जगहों पर कांग्रेस को एकतरफा जीत मिली। कांग्रेस ने इसे राज्य सरकार के कामकाज पर विश्वास बताया तो भाजपा ने कहा कि सत्ता बल का दुरुपयोग है। इस बीच पते की बात यह रही कि नक्सली दोनों ही चुनाव में कुछ भी नहीं कर पाये,यह लोकतंत्र की सबसे बड़ी जीत भी है। उपचुनाव में जब दंतेवाड़ा जीते तभी तय हो गया था कि चित्रकोट की जीत और आसान रहेगी। चित्रकोट की जीत के बाद अब सदन में कांग्रेस की सदस्य संख्या हो गई 69 और भाजपा रह गई 14 वहीं बस्तर की बात करें तो 12-0। मतलब बस्तर मुक्त हुआ भाजपा।

टोटल वोट-131169
कांग्रेस – 62050
भाजपा – 44197
जोगी कांग्रेस – 6524
सीपीआई – 6948
अम्बेडकर पार्टी – 2650
निर्दलीय – 2575
नोटा – 6225