कलेक्टर ने ली ओरछा और हांदावाड़ा कलस्टर की स्वास्थ्य और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक

नारायणपुर
कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने आज जिला पंचायत के सभाकक्ष में जिले के अंदरूनी ईलाके ओरछा और हांदावाड़ा सेक्टर के स्वास्थ्य और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक ली। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि 6 माह से 3 वर्ष तक के कुपोषित बच्चे एवं 15 वर्ष से 49वर्ष की गंभीर एनीमिक महिलाओं/किशोरियों को आयरन की गोली, पौष्टिक गर्म भोजन दाल-चांवल, सब्जी-रोटी, अंकुरित अनाज तथा अंडा आदि खाने की समझाईष दें और कुपोषित पाये गये बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्र में भर्ती करने के निर्देश स्वास्थ्य एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिये। उन्होंने गर्भवती माताओं का पंजीयन करने भी कहा। कलेक्टर ने संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने लोगों को जागरूक करने की बात कही। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एआर गोटा, बीएमओ श्री बी.एन.बनपुरिया, डीपीएम सुश्री प्रिया कंवर, परियोजना अधिकारी महिल एवं बाल विकास श्रीमती प्रतिभा शर्मा के अलावा स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास से जुड़े अन्य कर्मचारी-अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की जानकारी ली।

कलेक्टर ने कहा कि अंदरूनी ईलाकों में लगने वाले हाट-बाजारों में मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना के तहत् षिविर लगाकर ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच करें और उन्हें आवष्यक दवाईयों का निःषुल्क वितरण भी करें। उन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में इन जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन गंभीरता के साथ करने की बात स्वास्थ्य और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कहीं। कलेक्टर ने कहा कि इन योजनाओं का प्रचार-प्रसार आप अपने क्षेत्रों में करें, ताकि अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सके।