झाबुआ विधानसभा उपचुनाव: भाजपा में विरोध के स्वर

भोपाल
झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में हार के बाद भाजपा में विरोध के स्वर फूट पड़े हैं| सीधी से भाजपा के वरिष्ठ विधायक केदारनाथ शुक्ला ने पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह पर आरोप लगाए और उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने की मांग कर दी| इसके बाद पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा ने नेतृत्व पर सवाल उठाये हैं| भाजपा के वरिष्ठ नेता ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर कटाक्ष करते हुए कहा शिवराज को खुद अब भांजों को आगे करना चाहिए, कहना चाहिए मामा गिरी कर ली अब भांजे गिरी हो|

झाबुआ उपचुनाव में भाजपा की हार पर रघुनन्दन शर्मा ने पूर्व सीएम शिवराज पर निशाना साधा है| उन्होंने कहा शिवराज के लिए यह चिंता व आत्मवलोकन का विषय है| मध्यप्रदेश में एकमात्र लोकप्रिय नेता रह गए थे, बाकी सब ठिकाने लग गये, झाबुआ में मामा शब्द बेहद लोकप्रिय रहा, शिवराज जैसे नेता के रहते हुए हमें भी चुनाव नहीं हारना था और कमलनाथ को भी उपचुनाव शिवराज के रहते नहीं जीतना चाहिए था| उन्होंने कहा हम विधानसभा में भी सरकार नहीं बना पाए, झाबुआ में सबसे ज्यादा प्रचार रैलियां शिवराज ने ही की लेकिन हम फिर भी हार गए, इससे पार्टी के प्रति निष्ठा रखने वालों को पीड़ा होती है, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं| भाजपा नेता ने कहा प्रदेश में संवाद हीनता की स्थिति भाजपा में बनी है| अब शिवराज को खुद अब भान्जो को आगे करना चाहिए, कहना चाहिए मामा गिरी कर ली अब भांजे गिरी हो|

You may have missed