ट्रेनों में यात्री जान सकेंगे खानपान की गुणवत्ता, जानें मोबाइल पर कैसे मिलेगी सुविधा

 प्रयागराज                                                                                                                                                      
लंबी दूरी की ट्रेनों में खानपान की गुणवत्ता की जानकारी यात्रियों को तुरंत मिलेगी। यात्रियों को पैक्ड खानपान मिलेगा। पैकेट पर क्यूआर कोड होगा। कोड को मोबाइल से स्कैन करते ही खानपान का पूरा ब्योरा सामने आ जाएगा। गुणवत्ता खराब होने पर यात्री शिकायत कर सकेंगे।

ट्रेनों में खानपान की गुणवत्ता सुधारने के लिए आईआरसीटीसी ने बदलाव शुरू कर दिया है। नई दिल्ली से चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में खानपान पैकेट में मिलने लगा है। हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस में भी जनआहार पैक्ड वितरण होने लगा है। इलाहाबाद जंक्शन से गुजरने वाली अन्य ट्रेनों के यात्रियों को जल्द ऐसा ही खाना मिलेगा। यात्रियों के लिए ताजा खाना बेस किचेन से आएगा। 

इलाहाबाद में बेस किचेन बनाने की कवायद शुरू हो गई है। आईआरसीटीसी के एक अधिकारी ने बताया कि क्यूआर कोड की मदद से यात्री पैकेट में खाने की गुणवत्ता के साथ मात्रा की भी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। खाने की मात्रा कम या गुणवत्ता में कमी है तो यात्री शिकायत कर सकते हैं। अधिकारी के मुताबिक कोड की मदद से यात्री किचेन की गतिविधियों को देख सकते हैं। 

ट्रेनों से हटेगी पैंट्री कार 

लंबी दूरी की ट्रेनों में चलने वाली पैंट्री कार हटाई जाएगी। आईआरसीटीसी पैंट्री कारों की देखरेख करता है। पैंट्री कारों में खानपान की गुणवत्ता की लगातार शिकायत मिल रही है। आवश्यकता से अधिक कीमत वसूलने की भी शिकायत मिल रही है। गुणवत्ता में सुधार नहीं होने पर आईआरसीटीसी ने ट्रेनों से पैंट्री कार धीरे-धीरे हटाने का फैसला किया।