February 24, 2024

कश्मीर पर UN ने जताई चिंता, कहा- नागरिकों के अधिकार बहाल करे भारत

श्रीनगर
संयुक्त राष्ट्र (UN) ने कश्मीर के हालात पर चिंता जताई है. साथ ही सरकार की तारीफ भी की है. UN ने मंगलवार को कहा कि घाटी के लोग अधिकारों से वंचित हैं और हमने भारतीय अधिकारियों से मांग की है कि कश्मीर में नागरिकों के सभी अधिकार बहाल हों. UN ने यह भी कहा कि कश्मीर में सुधार के लिए भारत ने कई कदम उठाए हैं. मानव अधिकारों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त के प्रवक्ता रूपर्ट कोल्विले ने कहा कि हम बहुत चिंतित हैं कि कश्मीर में लोग अधिकारों से वंचित हैं. हम भारत से अधिकारों को पूरी तरह से बहाल करने की अपील करते हैं.

370 हटने के बाद
जम्मू कश्मीर से 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. 5 अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 हटाने के साथ ही जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया था. इस फैसले के बाद सुरक्षा के मद्देनजर घाटी में कई पाबंदियां लगाई गईं. सुरक्षा के मद्देनजर इलाके में सख्ती जारी है.

पाकिस्तान की बौखलाहट
जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. इस बौखलाहट में वह कभी सीजफायर का उल्लंघन करता है तो कभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर राग अलापता है. पिछले एक महीने में पाकिस्तान एलओसी-बॉर्डर पर कई बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुका है. हाल ही में पीएम मोदी के सऊदी अरब दौरे के लिए पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस खोलने से इनकार कर दिया था. इसके अलावा लगभग एक महीने पहले पाकिस्तान ने UN में भी कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की थी लेकिन उसे मुंह की खानी पड़ी. भारत कई बार साफ कर चुका है कि कश्मीर उसका आंतरिक मामला है.

यूरोपीय यूनियन के सांसदों का दौरा
UN की तरफ से यह बड़ा बयान तब आया है जब यूरोपीय यूनियन के सांसदों का प्रतिनिधिमंडल आज कश्मीर दौरे पर है. बता दें यूरोपीय यूनियन के 27 सांसद कश्मीर दौरे पर हैं. यूरोपीय सांसदों का दल आज सुबह 10 बजकर 15 मिनट पर दिल्ली से रवाना हुआ. लगभग 11.15 बजे यह दल श्रीनगर पहुंचा. डेलिगेशन की पहली टीम ने राज्यपाल और उनके सलाहकार से मुलाकात की.

आतंकी हमले
अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही जम्मू कश्मीर में आतंकी सक्रिय हो गए हैं और सुरक्षा व्यवस्था बिगाड़ने में लगे हैं. मंगलवार यानी आज यूरोपीय यूनियन के सांसदों के दौरा के बीच पुलवामा में CRPF की एक पेट्रोल पार्टी पर आतंकियों ने हमला कर दिया. हमला एक एग्जाम सेंटर के पास हुआ जहां कुछ बच्चे भी फंस गए थे. राहत की बात थी कि हमले में कोई घायल नहीं हुआ. वहीं अक्टूबर महीने में आतंकी कई हमलों को अंजाम दे चुके हैं. सोमवार (28 अक्टूबर) को भी सोपोर में आतंकवादियों ने ग्रेनेड से हमला किया था जिसमें 15 लोग घायल हो गए थे. वहीं दिवाली से एक दिन पहले यानी 26 अक्टूबर को भी श्रीनगर के काकासराए में CRPF जवानों पर आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया था. ऐसे ही 24 अक्टूबर को एक आतंकी हमला कुलगाम स्थित CRPF कैंप पर हुआ था.

You may have missed