परदादा, दादा, पिता और अब खुद भी क्रिकेटर

ऑकलैंड
न्यू जीलैंड के घरेलू फर्स्ट क्लास टूर्नमेंट प्लंकेट शील्ड का एक मुकाबला वेलिंग्टन फायरबर्ड्स और केंटरबरी के बीच मंगलवार को शुरू हुआ। इस मैच में वेलिंग्टन टीम की प्लेइंग इलेवन में माइकल स्नेडन को भी शामिल किया गया। 27 वर्षीय माइकल का यह पहला फर्स्ट क्लास मैच है। वह स्नेडन परिवार की चौथी पीढ़ी के सदस्य हैं।
माइकल न्यूजीलैंड के पहले चौथी पीढ़ी के फर्स्ट क्लास क्रिकेटर बन गए हैं। उनके पिता मार्टिन स्नेडन (1977-78 से 1989-90 तक), दादा वॉरविक स्नेडन (1946-47 में) और परदादा नेसी स्नेडन (1909-10 से 1927-28 तक) ने न्यू जीलैंड की ऑकलैंड टीम के लिए फर्स्ट क्लास मैच खेला था।

मार्टिन ने तो न्यूजीलैंड के लिए 25 टेस्ट और 93 वनडे मैच भी खेले थे जिसमें उन्होंने क्रमश: 58 और 114 विकेट झटके थे। नेसी ने भी न्यू जीलैंड के लिए कुछ मैच बतौर कप्तान विदेशी टीमों के खिलाफ खेले जरूर लेकिन तब न्यू जीलैंड को टेस्ट टीम का दर्जा हासिल नहीं हुआ था।

माइकल वैसे स्नेडन परिवार के कुल छठे सदस्य हैं जिन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेला है। नेसी के दो बेटों कोलिन (1938-39 से 1947-48 तक) और सिरिल (1920-21 में) ने ऑकलैंड के लिए फर्स्ट क्लास मैच खेले थे। तेज गेंदबाज माइकल ने पिछले साल ऑकलैंड के लिए दो लिस्ट ए मैच खेले थे। फर्स्ट क्लास मैच खेलने का मौका उन्हें वेलिंगटन टीम से जुड़ने के बाद मिला।

You may have missed