सीतामढ़ी: सरकारी जमीन पर दबंगों के अतिक्रमण के चलते नाला का निर्माण बाध‍ित

सीतामढ़ी
जिला पदाधिकारी और स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन कार्य प्रमंडल संख्या के एक के कार्यपालक अभियंता के आदेश के बाद भी अंचलाधिकारी द्वारा मापी नहीं कराए जाने के चलते डुमरा अंचल के शांतिनगर मोहल्ले में नाले का निर्माण लंबित है। कार्यपालक अभियंता के आदेश के सवा साल बाद भी मापी नहीं हो सकी है। सरकारी जमीन पर दबंगों के अतिक्रमण के चलते नाला का निर्माण नहीं हो पा रहा है। यह मोहल्ला साल के नौ महीने तक जलजमाव की गिरफ्त में रहता है। वहीं लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है। अब जबकि, बरसात ने दस्तक दे दी है। लोगों में दहशत और आक्रोश है। नाला निर्माण नहीं होने से नाराज लोग आंदोलन के मूड में है।

बताते चलें कि, शांतिनगर का इलाका जलजमाव की गिरफ्त में रहता है। स्थानीय लोगों की पहल पर तत्कालीन डीएम ने जलजमाव की समस्या से निजात के लिए नाला निर्माण की स्वीकृति दी थी। इसके आलोक में स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन कार्य प्रमंडल संख्या के एक के तहत यहां नाला का निर्माण कार्य शुरू हुआ। लेकिन, दबंगों की सरकारी जमीन पर अतिक्रमण के चलते नाले का निर्माण रुक गया। मामले को लेकर संवेदक द्वारा स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन कार्य प्रमंडल संख्या के एक के कार्यपालक अभियंता को आवेदन दिया गया। कार्यपालक अभियंता ने 21 दिसंबर 2021 को अंचलाधिकारी को पत्र भेजकर जमीन की मापी कराने का निर्देश दिया। लेकिन, अंचलाधिकारी बेपरवाह बने रहे।

कार्यपालक अभियंता ने 24 फरवरी 2021 को दोबारा पत्र भेजकर अंचलाधिकारी को स्मारित किया। बावजूद इसके अब तक जमीन की मापी नहीं कराई जा सकी है। एक माह पूर्व मोहल्ले के 200 लोगों ने संयुक्त हस्ताक्षरित आवेदन डीएम को दिया था। डीएम ने अंचलाधिकारियों को त्वरित कार्रवाई का आदेश दिया था। बावजूद इसके कोई पहल नहीं हुई तब, सामाजिक कार्यकर्ता रमण कुमार श्रीवास्तव ने हाल ही में सीतामढ़ी पहुंचे श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार को आवेदन देकर पूरे मामले की जानकारी दी थी। बावजूद इसके अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।