देवेंद्र फडणवीस को कोई बता रहा अग्निवीर, कोई आडवाणी

मुंबई
महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार के सत्ता से बेदखल होने का श्रेय अंदरखाने भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस को भी मिला है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार में फडणवीस उपमुख्यमंत्री बने हैं। इसे लेकर विपक्षी दलों ने उन पर तंज कसना शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके फडणवीस को भारत का पहला 'अग्निवीर' बताया गया।

कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी बागी विधायकों की अयोग्यता से जुड़े मामले में सुप्रीम कोर्ट में शिवसेना का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पद से चूकने को लेकर फडणवीस पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि साल का सबसे बड़ा सवाल यह है कि भाजपा ने उपमुख्यमंत्री पद के लिए समझौता क्यों किया। उन्होंने ट्वीट करके कहा, "साल का सबसे बड़ा सवाल यह है कि खरीद-फरोख्त और ऑपरेशन लोटस में बड़े पैमाने पर खर्च करने के बावजूद बीजेपी को सीएम पद से किस मजबूरी ने समझौता कराया।"

'भारतीय राजनीति में एक नया लालकृष्ण आडवाणी'
फडणवीस इससे पहले दो बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इस पर कटाक्ष करते हुए सिंघवी ने कहा, "फिर भी, भारतीय राजनीति में हमारे पास एक नया लालकृष्ण आडवाणी है। देवेंद्र फडणवीस प्रतीक्षा में शाश्वत सीएम बने हुए हैं।" वहीं, फडणवीस के "मैं वापस आऊंगा" वाले दावे पर महाराष्ट्र कांग्रेस ने ट्वीट किया, "मैं वापस आऊंगा लेकिन सिर्फ देखने के लिए।"

'उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार करते हुए खुश नहीं दिखे फडणवीस'
इससे पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दावा था किया कि एकनाथ शिंदे की सरकार में उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार करते हुए भाजपा के नेता देवेंद्र फडणवीस खुश नहीं दिख रहे थे। पवार ने कहा कि मुझे लगता है कि फडणवीस ने खुशी से नंबर दो का स्थान स्वीकार नहीं किया है। उनके चेहरे के भाव ने सब कुछ बयां कर दिया। मालूम हो कि उद्धव ठाकरे के बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद शिवसेना के बागी नेता शिंदे ने महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने पहले कहा कि वह सरकार का हिस्सा नहीं होंगे, लेकिन बाद में उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।