बिजली (संशोधन) विधेयक को लेकर सरकार की बढ़ेगी टेंशन, दिल्ली में 23 नवंबर को धरना देंगे बिजली कर्मचारी 

लखनऊ 
उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के बिजली कर्मचारी बुधवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे। ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन (AIPEF) ने कहा है कि अगर केंद्र सरकार ने बिजली (संशोधन) विधेयक, 2022 को पारित करने के लिए एकतरफा प्रयास किया तो देश भर के सभी बिजली कर्मचारी और इंजीनियर हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर हो जाएंगे। इस आंदोलन में शामिल होने के लिए यूपी समेत कई राज्यों से लाखों कर्मचारी दिल्ली पहुंचेंगे। 

 विज्ञापन ढूंढे गुरुवार को जंतर-मंतर पर सुबह 11 बजे से प्रदर्शन शुरू होगा, जिसमें कई बिजली कर्मचारी संघ हिस्सा लेंगे। 23 नवंबर को रैली में प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को आगाह किया जाएगा कि अगर बिजली (संशोधन) विधेयक 2022 को पारित करने की कोई एकतरफा प्रक्रिया शुरू की गई तो इसके गंभीर परिणाम होंगे और इसके खिलाफ देशव्यापी आंदोलन होगा। इस बीच, यूपी में बिजली इंजीनियरों और कर्मचारियों ने समयबद्ध वेतनमान और पुरानी पेंशन योजना की बहाली सहित अपनी मांगों को लेकर 29 नवंबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार शुरू करने से पहले यह कदम काफी अहम माना जा रहा है।