February 24, 2024

जीवन की भागदौड़ में व्यक्ति अल्पविराम से हैप्पीनेस को जान सकता है

पुलिस विभाग के कर्मचारियों ने लिया अल्पविराम
बड़वानी

शनिवार को जनजातीय कार्य विभाग के सभागार में बड़वानी जिले के कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग के मार्गदर्शन में आनन्द विभाग ने पुलिस विभाग के कर्मचारियों की एक दिवसीय अल्पविराम परिचय कार्यशाला का शुभारंभ जिला नोडल अधिकारी नीलेश सिंह रघुवंशी ने किया। सूबेदार सुश्री अलका वास्केल, आनन्द क्लब अध्यक्ष सुश्री संगीता लोह, सचिव सुश्री संगीता जोशी ने माता सरस्वती का पूजन दीप प्रज्वलन किया, सरस्वती वंदना सुनीता शुक्ला एवं सुधा बाजपेयी ने प्रस्तुत की। आनंद विभाग के परिचय वीडियो से आनन्दम सहयोगी अनिल जोशी ने शुरुआत करते हुए कहा कि जीवन की निरंतर भागदौड़ में व्यस्त आदमी अल्पविराम के माध्यम से आनन्द की पहचान कर सकता है।

जिला नोडल अधिकारी श्री नीलेश रघुवंशी ने प्रारम्भ में संबोधित करते हुए बताया कि भारत व अमेरिका दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्था होने के बावजूद हैप्पीनेस के मामले में छोटे छोटे देश भूटान एवम फिनलैंड से बहुत पीछे है।अल्पविराम के माध्यम से हमे आत्मा की आवाज को सुनने का प्रयास करना चाहिए।

जिला मास्टर ट्रेनर डॉ रामसहाय यादव एवं सुधा बाजपेयी ने लाइफ बेलेंस शीट, जीवन मे रिश्तों का महत्व, फ्रीडम ग्लास, टूल्स के माध्यम से प्रतिभागियों को बताया कि अल्पविराम से आज हम यह सोचने पर विवश हुए की आखिर जीवन मे क्या करना चाहिए, हम वर्तमान में मशीनी जीवन जी रहे है।दुसरो से अपेक्षा करना भी आनन्द में बाधक है। प्रतिभागियों ने कहा कि यह कार्यक्रम पूरे परिवार के साथ होना चाहिए,बार बार होना चाहिए।

मास्टर ट्रेनर श्री मनीष जोशी एव सुश्री सुनीता शुक्ला ने अल्पविराम, प्रेरणास्पद गीत, वीडियो, फिल्म के माध्यम से प्रतिभागियों के निजी जीवन मे अपने अंदर बहुत सारे बोझ को देखा, उनके अंदर की नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक ऊर्जा में प्रवर्तित करने की दिशा में एक सशक्त  कदम बताया। प्रतिभागियों ने आनन्द अल्पविराम परिचय कार्यशाला में दिनभर में क्या सीखा, अपने अनुभवों का आदान-प्रदान किया।

कार्यशाला के समापन में जिला नोडल अधिकारी श्री नीलेशसिंह रघुवंशी ने प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरण किये। प्रतिभागियों का आभार प्रदर्शन मास्टर ट्रेनर आशीष मण्डलोई ने किया।

You may have missed