जेडीयू के ललन सिंह का केंद्र पर हमला: मोदी सरकार में चल रहीं फर्जीवाड़े की दुकानें, रेबड़ी की तरह बंट रही सिक्योरिटी

पटना

किरण भाई पटेल के फर्जीवाड़े मामले पर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। ललन सिंह ने कहा कि यह बेहद हास्यास्पद बात है कि एक आदमी जम्मू कश्मीर जाकर पांच सितारा होटल में ठहरकर उप राज्यपाल के साथ घूमा, खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय का अधिकारी बताया और केन्द्रीय गृह मंत्रालय को पता ही नहीं चला।

किसने मुहैया कराई जेड सुरक्षा
उन्होंने सवाल किया कि आखिर किसने उस आदमी को जेड सुरक्षा मुहैया कराई? किसने उसके लिए पांच सितारा होटल में रहने की व्यवस्था और बुलेट प्रूफ कार उपलब्ध कराया? कई ऐसे सवाल हैं, जिनके जवाब अब तक नहीं मिले और भविष्य में भी मिलने के आसार नहीं हैं।

पूरे प्रकरण की हो उच्च स्तरीय जांच
उन्होंने कहा कि देश में रेबड़ी की तरह सुरक्षा बांटे जा रही है। मोदी सरकार में देश में जगह-जगह फर्जी लोग फैले हैं जो अपनी दुकानें चला रहे हैं। उन्होने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार को समझना चाहिए, कि निजी सुरक्षा बांटने से वोट नहीं मिलते, जनहितैषी कार्यों को करने से मिलते हैं। ललन सिंह ने इस पूरे मामले की हाई लेवल जांच की मांग की है। और इस प्रकरण में शामिल लोगों पर भी कार्रवाई की जाए। आखिर इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हुए।

क्या है पूरा मामला ?
हाल ही में किरण भाई पटेल नाम के शख्स को उसी की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों ने गिरफ्तार किया था। वो खुद को पीएमओ का एडिश्नल डायरेक्टर बताकर सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस की निगरानी में घूम रहा था। यही नहीं उसे उच्च सुरक्षा और बुलेटप्रूफ गाड़ी भी मुहैया कराई गई थी। करीब 5 महीने तक किरण पटेल वीआईपी  ट्रीटमेंट लेकर मौज करता रहा। और किसी को खबर तक नहीं हुई। लेकिन 3 मार्च को उसकी पोल खुल गई और फिर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।