‘गुम है किसी के प्यार में’ की कहानी में नया मोड़

मुंबई

आयशा सिंह, ऐश्वर्या शर्मा और विराट चव्हाण के सुपरहिट सीरियल 'गुम है किसी के प्यार में' की कहानी में डॉक्टर सत्या यानी हर्षद अरोड़ा की एंट्री से जबरदस्त ट्विस्ट आया है। डॉक्टर सत्या की एंट्री से दर्शक कयास लगाने लगे हैं कि आने वाले समय में सई-सत्या के बीच रोमांस देखने को मिल सकता है। सीरियल के अपकमिंग एपिसोड्स की बात करें तो सत्या और सई जोशी के बीच एक कंफ्यूजन के कारण सत्या सई को खरी-खोटी सुनाने लगता है। दरअसल, सई को सत्या और नर्स के बीच का रिश्ता ठीक नहीं लग रहा था, लेकिन बाद में सई को पता चलता है कि सत्या नर्स के बेटे की तबीयत खराब होने की वजह से अपने साथ उसे लेकर गया था।

सई जोशी की छोटी सोच
सई को जब ये पता चलता है तो वह सत्या से माफी मांगती है और कहती है कि उसे पता नहीं था कि वह शीतल के बेटे का इलाज करने गए थे। इस पर सत्या कहने लगता है कि मुझे आपके गुस्से से कोई भी दिक्कत नहीं है लेकिन तुम्हारी सोच से मुझे दिक्कत है। सत्या कहता है कि दूर से सोचने के लिए कुछ भी सोचा जा सकता है, लेकिन हकीकत जानने के लिए पास जाना पड़ता है। सत्या कहता है कि आप भी उन लोगों की तरह हैं जिनके दिल छोटे और दिमाग उससे भी छोटा होता है। डॉक्टर सत्या, सई को सुनाकर वहां से निकल जाता है।

विनायक और सई के बीच दूरियां हुई कम
सई को उसकी बेटी सवि बताती है कि स्कूल की कॉम्पटीशन में विनायक ने पहला स्थान प्राप्त किया है। ये बात सुनकर सई बेहद खुश हो जाती है। चव्हाण हाउस में विनायक और विराट साथ में आते हैं और विनायक के हाथ में जीत की ट्रॉफी होती है। जिसे देखकर सभी घर वाले खुश हो जाते हैं और पूछने लगते हैं कि आखिर ये अवॉर्ड कैसे मिला। इस पर विनायक अपनी जीत का श्रेय सई और डॉक्टर सत्या को देता है। इसके बाद विनायक पत्रलेखा को छोड़कर सई के गले लग जाता है। ये देखकर विराट की मां और पत्रलेखा दोनों को अजीब लगती है, लेकिन विनायक और सई के बीच प्यार देखकर भवानी काकू का दिन बन जाता है। भवानी काकू कहती है कि विनायक सई पर गया है, सई भी बहुत अवॉर्ड लाती थी।

डॉक्टर सत्या की जिंदगी में 5 साल बाद हुई किसी लड़की की एंट्री
डॉक्टर सत्या घर जाता है और सई जोशी के बारे में सोचने लगता है। इतने में सत्या को उसकी गिरजा दिखने लगती है और वह उससे भी सई जोशी के बारे में बातें करने लगता है। इतने में सत्या की मां आ जाती है और कहती है कि अब तो गिरजा के बारे में सोचना बंद करो और अपनी जिंदगी में आगे बढ़ो। सत्या से उसकी मां कहती है कि अब उसे आगे बढ़ना चाहिए। इस पर सत्या कहता है कि वह गिरजा से बात जरूर कर रहा था, लेकिन बात वो सई जोशी की कर रहा था। ये सुनकर सत्या की मां खुश हो जाती है और कहती है कि 5 साल में पहली बार गिरजा के अलावा तुमने किसी और लड़की की बात की है।

पत्रलेखा बढ़ाएगी सई की मुश्किलें
चव्हाण परिवार के सभी लोग साथ में 'गुडी पाड़वा' मनाने के लिए तैयार होते हैं और ऐसे में विराट बहुत खुश होता है कि इस बार सब साथ में ये त्योहार सेलिब्रेट कर रहे हैं। विराट की मां पत्रलेखा और विराट को नजदीक लाने के लिए कहती है कि विराट तुम ही पत्रलेखा के बालों में गजरा लगाओ। आने वाले एपिसोड में दिखेगा कि 'गुडी पाड़वा' के दिन सई के नाम एक लेटर आता है जिसमें सई पर पत्रलेखा द्वारा गंभीर आरोप लगाए होते हैं, जिससे सई का डॉक्टर वाला लाइसेंस भी रद्द हो सकता है। अब देखना होगा पत्रलेखा की वजह से सई की जिंदगी में क्या होगा।

You may have missed