‘2011 का बदला लेना है’, Shoaib Akhtar ने 2023 वर्ल्‍ड कप में भारत-पाक मैच को लेकर की बड़ी भविष्‍यवाणी

नई दिल्‍ली
भारत की मेजबानी में इस साल वनडे वर्ल्‍ड का आयोजन अक्‍टूबर में होगा। सभी टीमों ने अपनी तैयारियां इस मेगा इवेंट के लिए शुरू कर दी हैं। कई टीमें बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं और ऐसे में यह अनुमान लगाना मुश्किल हो रहा है कि खिताब का प्रबल दावेदार कौन है। हालांकि, पाकिस्‍तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर का मानना है कि वर्ल्‍ड कप 2023 के फाइनल में भारत-पाकिस्‍तान की भिड़ंत देखने को मिलेगी। भारतीय टीम ने 2011 वर्ल्‍ड कप के सेमीफाइनल में पाकिस्‍तान को मात दी थी और अख्‍तर चाहते हैं कि इसका बदला लिया जाए। रावलपिंडी एक्‍सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्‍तर ने स्‍पोर्ट्स तक से बातचीत में कहा, 'मैं भारत और पाकिस्‍तान के बीच फाइनल मैच होते देखना चाहता हूं। 2011 का बदला लेना है इस बार।'

एशिया कप पर अख्‍तर का बयान
शोएब अख्‍तर ने एशिया कप को लेकर चल रहे विवाद पर सवाल दागा है। बीसीसीआई और पीसीबी के बीच एशिया कप को लेकर विवाद चल रहा है। पाकिस्‍तान एशिया कप का आधिकारिक मेजबान है, लेकिन बीसीसीआई ने भारतीय टीम को पाकिस्‍तान नहीं भेजने का फैसला किया है। बीसीसीआई का रवैया देख पीसीबी ने पलटवार किया और कहा कि अगर भारत एशिया कप में नहीं आया तो फिर पाकिस्‍तान वर्ल्‍ड कप 2023 का बहिष्‍कार करेगा। इस पर अख्‍तर ने कहा कि इसको मुद्दा नहीं बनाना चाहिए।

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, 'यह खराब बातें हैं। बीसीसीआई या पीसीबी इस मामले में कुछ नहीं कर सकते हैं। बीसीसीआई भारतीय सरकार से बिना पूछे कुछ नहीं कर सकता। हमारा बोर्ड अपने देश की सरकार से सलाह लिए बिना कुछ नहीं कर सकता है। जब भारत-पाकिस्‍तान मुकाबले की बात आ रही है तो हर कोई अपने विचार प्रकट कर रहा है। मैं दोनों टीमों के सभी पूर्व खिलाड़‍ियों से गुजारिश करता हूं कि गैरजरूरी बयान देने से बचे। अगर नरेंद्र मोदी की सरकार हरी झंडी देगी तो बीसीसीआई कौन होता है कि वो पाकिस्‍तान की यात्रा करे।'