इंटरनेट सेवा 10 जून तक बंद, भाजपा उपाध्यक्ष ने PM को लिखा पत्र, असम राइफल्स को वापस बुलाया

मणिपुर

 मणिपुर में जारी हिंसा के बीच सरकार ने इंटरनेट पर प्रतिबंध को शनिवार तक के लिए बढ़ा दिया है। 10 जून तक प्रदेश मेतं इंटरनेट की सेवा को बंद क दिया गया है। यह प्रतिबंध 3 मई को लगाया गया था। प्रदेश सरकार की ओर से सोमवार को आदेश जारी किया गया है जिसमे कहा गया है कि इंटरनेट सेवाएं पांच और दिन यानि 10 जून दोपहर 3 बजे तक प्रतिबंधित रहेगी। मैतेयी और कुकी आदिवासी गुट के बीच चल रहा खूनी संघर्ष खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, यही वजह है कि यहां पर हालात लगातार तनावपूर्ण बने हुए हैं। 3 मई को हुई हिंसा में 70 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। असम राइफल्स और सेना के तकरीबन 10 ह जार जवानों को प्रदेश में शांति बहाली के लिए तैनात किया गया है। इस बीच मणिपुर भाजपा के उपाध्यक्ष चिदानंद सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर असम राइफल्स को वापस बुलाने की अपील की है।

 BJP चिदानंद ने 5 जून को पीएम को लिखे पत्र में कहा है कि प्रदेश में शांति बहाली के लिए केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान लगातार काम कर रहे हैं, लेकिन असम राइफल्स के लोग अपनी जिम्मेदारी का गंभीरता से वहन नहीं कर रहे हैं। उनकी कुछ दिन पहले की कार्रवाई से बिल्कुल साफ है कि वह अपनी जिम्मेदारी को लेकर गंभीर नहीं है। चिदानंद ने कहा कि अच्छा होगा अगर न्यूट्रल सेंट्रल या स्टेट की एजेंसी को यहां तैनात किया जाए। इसके साथ ही चिदानंद ने अपील की है कि कूकी के लड़ाकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए, उन्होंने सरकार के साथ सीजफायर का उल्लंघन किया है।