जबलपुर और इंदौर के लिए भोपाल से दो Vande Bharat train चलने की संभावना

भोपाल

 वंदेभारत ट्रेन चलाने को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। यह ट्रेन जबलपुर से इंदौर के बीच नहीं, बल्कि जबलपुर से भोपाल के बीच चलेगी। खास बात यह है कि भोपाल से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। उधर भोपाल से इंदौर के लिए भी वंदेभारत ट्रेन चलने की संभावना है, हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि एक वंदेभारत ट्रेन को जबलपुर से भोपाल के बीच और दूसरी वंदेभारत ट्रेन को भोपाल से इंदौर के बीच चलाया जा सकता है।

पश्चिम मध्य रेलवे जोन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। ट्रेन रवाना होने की संभावित तिथि 27 जून तय की गई है। बुधवार को दिनभर रेलवे बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक चलती रही, जिसमें ट्रेन के रूट और समय पर मंथन हुआ।

देर शाम तय किया गया कि जबलपुर से भोपाल के बीच चलने वाली वंदेभारत ट्रेन सुबह साढ़े नौ बजे भोपाल से रवाना होगी और दोपहर दो बजे जबलपुर पहुंचेगी। जबलपुर से यह ट्रेन दोपहर ढाई बजे वापस भोपाल के लिए रवाना हो जाएगी। अभी ट्रेन का किराया तय नहीं किया गया है।

चार स्टेशनों में ही रुकेगी वंदेभारत ट्रेन

भोपाल से चलकर जबलपुर आने वाली वंदेभारत ट्रेन को सिर्फ चार रेलवे स्टेशनों में रोका जाएगा। इनमें होशांगाबाद, इटारसी, पिपरिया और नरसिंहपुर स्टेशन हैं। हालांकि रेलवे बोर्ड से अभी सिर्फ तीन स्टेशनों के नाम तय हुए हैं, जिनमें इटारसी, पिपरिया और नरसिंहपुर शामिल हैं।

होशंगाबाद स्टेशन में भी वंदेभारत ट्रेन को रोका जाना है। ट्रेन चलने की स्वीकृति मिलते ही जबलपुर रेल मंडल ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। अभी वंदेभारत ट्रेन के रैक के मेंटेनेंस पर संशय बना हुआ है। रैक के मेंटेनेंस की तैयारी जबलपुर रेलवे स्टेशन में की गई है, लेकिन यह ट्रेन जबलपुर में महज आधे घंटे के लिए ही रुकेगी। भोपाल से तीन वंदेभारत ट्रेन रवाना होने की वजह से संभावना है कि अब रैक का मेंटेनेंस भोपाल में ही किया जाएगा।

जबलपुर-भोपाल वंदेभारत ट्रेन का समय

इन स्टेशन में रुकेगी- नरसिंहपुर, पिपरिया, इटारसी, होशंगाबाद

समय– भोपाल से सुबह साढ़े नौ बजे चलेगी, दो बजे जबलपुर आएगी।

जबलपुर से दोपहर ढाई बजे चलेगी और शाम सात बजे भोपाल पहुंचेगी।