बघेल ने साधराम हत्याकांड पर स्थगन प्रस्ताव लाते हुए इस पर चर्चा कराने की मांग की

रायपुर

विधानसभा में आज कवर्धा के साधराम यादव हत्याकांड पर जमकर हंगामा हुआ। कांग्रेस के विधायक इस पर चर्चा कराने की मांग करती हुए गर्भगृह में घुसकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने सदन में गर्भगृह तक पहुंचने वाले सभी कांग्रेस विधायकों के निलंबन की घोषणा की। इस पर चर्चा न कराने को लेकर नाराज कांग्रेस विधायक दल ने विधानसभा परिसर स्थित महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने बैठकर अपना आक्रोश जताया।

विधानसभा में आज शून्यकाल के दौरान विपक्ष की ओर से भूपेश बघेल ने साधराम हत्याकांड पर स्थगन प्रस्ताव लाते हुए इस पर चर्चा कराने की मांग की। विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी इसकी सीबीआई जांच और पीड़ित परिवार को पर्याप्त मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग की। विपक्ष ने इस मामले में सरकार की ओर से जवाब मांगा। संसदीय कार्य मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस पर आपत्ति करते हुए कहा कि इस पर किसी अन्य माध्यम से चर्चा हो सकती है।

अध्यक्ष ने भी चर्चा की अनुमति नहीं दी। इससे नाराज होकर कांग्रेस के सभी सदस्यों ने खड़े होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। जवाब में सत्ता पक्ष के सदस्य भी खड़े होकर हंगामा करने लगे। विपक्ष के सदस्य नारेबाजी करते हुए गर्भगृह में चले गए जिस पर डॉ रमन सिंह ने सभी सदस्यों के निलंबन की घोषणा करते हुए उन्हें बाहर जाने के लिए कह दिया। हालांकि थोड़ी ही देर में नियम का हवाला देकर अध्यक्ष ने इनका निलंबन समाप्त कर दिया। बाहर आकर सभी कांग्रेस विधायक गांधी प्रतिमा के सामने थोड़ी देर बैठकर विरोध प्रदर्शन के बाद वापस सदन की कार्यवाही में भाग लेने अंदर चले गए।