राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की बदनावर में होगी बड़ी सभा

 इंदौर

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा 2 मार्च को धौलपुर (राजस्थान) से मध्यप्रदेश में मुरैना से एंट्री करेगी। MP में यह यात्रा 5 दिन रहेगी। रतलाम जिले के सैलाना से राजस्थान के बांसवाड़ा जिले की सीमा में प्रवेश करेगी।इस दौरान अलग-अलग स्थानों पर किसान, युवा, महिला, आदिवासी सहित अन्य वर्गों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा भी करेंगे।

पार्टी पदाधिकारियों ने बताया कि राजस्थान से मुरैना के जीपी ढाबा के पास तिरंगा झंडा मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी को सौंपा जाएगा। इसके बाद प्रदेश में यात्रा प्रारंभ हो जाएगी। मुरैना में छोटी सभा होगी। सुमावली होते हुए यात्रा ग्वालियर ग्रामीण क्षेत्र पहुंचेगी। यहां शाम पांच बजे से हजीरा मार्ग पर रोड शो होगा। तीन मार्च को भी रोड शो रखा गया है।
 
भारत जोड़ो यात्रा के समय भी राहुल गांधी महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे थे।
चार मार्च को बमोरी, गुना होते हुए राघोगढ़ पहुंचेंगे और यहां रोड शो और रथ सभा होगा। इसके बाद राजगढ़, ब्यावरा, पचोर, मक्सी होते हुए यात्रा उज्जैन पहुंचेगी। यहां राहुल गांधी बाबा महाकाल के दर्शन करेंगे और चिमनगंज मंडी से रोड शो होगा। छह मार्च को धार के बदनावर में आदिवासी न्याय सभा करते हुए कुंडी से यात्रा राजस्थान प्रवेश कर जाएगी।

मध्यप्रदेश में राहुल गांधी की न्याय यात्रा

राहुल गांधी की न्याय यात्रा मध्यप्रदेश आने वाली है। वे 2 मार्च को मुरैना से प्रवेश करेंगे और 6 मार्च तक प्रदेश में रहेंगे। 6 मार्च को शाम को सैलाना से राजस्थान चले जाएंगे। राहुल गांधी की न्याय यात्रा 9 जिलों की 8 लोकसभा सीटों से होकर गुजरेगी। इन 9 जिलों में मुरैना, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, राजगढ़, उज्जैन, शाजापुर, धार और रतलाम जिले शामिल हैं। इन 9 जिलों में 8 लोकसभा सीटें आ रही हैं। इनमें मुरैना, ग्वालियर, गुना-शिवपुरी, राजगढ़, उज्जैन, शाजापुर-देवास, धार और रतलाम-झाबुआ लोकसभा सीटें हैं। कांग्रेस इस यात्रा के दौरान किसान, आदिवासी, महिला सम्मान और अपराध के मामले उठाने वाली है।

9 जिलों की 8 विधानसभा सीटों से गुजरेंगे राहुल

  •     2 मार्च को न्याय यात्रा का प्रदेश में प्रवेश
  •     6 मार्च तक प्रदेश में रहेगी न्याय यात्रा
  •     6 मार्च को शाम को सैलाना से राजस्थान में प्रवेश करेगी यात्रा
  •     9 जिले की 8 लोकसभा सीटों पर होगी यात्रा
  •     जिले – मुरैना, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, राजगढ़, उज्जैन, शाजापुर, धार और रतलाम।
  •     लोकसभा सीट – मुरैना, ग्वालियर, गुना-शिवपुरी, राजगढ़, उज्जैन, शाजापुर-देवास, धार और रतलाम-झाबुआ

आदिवासियों पर फोकस

राहुल गांधी का आदिवासियों पर खास फोकस है। वे शिवपुरी में आदिवासियों से संवाद करेंगे। बदनावर में आदिवासी सभा करेंगे। इसके अलावा रोड शो और जनसभाओं के जरिए आदिवासी और किसानों के मुद्दे उठाएंगे। मुरैना में सभा, ग्वालियर में रोड शो, शिवपुरी में आदिवासी संवाद और जनसभा, गुना में जनसभा, राघौगढ़ में जनसभा, ब्यावरा, राजगढ़ में जनसभा, उज्जैन में रोड शो और बदनावर में आदिवासी सभा करेंगे। वे भगवान महाकाल की पूजा अर्चना भी करेंगे। राहुल की न्याय यात्रा के रूट में 54 विधानसभा सीटें आती हैं। 2023 के विधानसभा चुनाव के हिसाब से मुरैना, ग्वालियर और रतलाम सीट पर कांग्रेस मुकाबले में नजर आती है। यहां की 24 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 11 सीटें जीती हैं। यही कारण है कि राहुल की न्याय यात्रा इन सीटों से होकर गुजर रही है। कांग्रेस को यहां पर जीत की उम्मीद नजर आती है। आदिवासी जिलों में रतलाम, झाबुआ, धार से होकर ये यात्रा गुजरेगी।

विधानसभा चुनाव के पहले राहुल की भारत जोड़ो यात्रा भी मध्यप्रदेश से गुजरी थी, लेकिन उसका असर चुनाव में नजर नहीं आया। बीजेपी कहती है कि राहुल की यात्रा उनके लिए फायदे का सौदा है क्योंकि जहां राहुल गांधी आते हैं, वहां पर बीजेपी को जीत मिलती है। इस न्याय यात्रा के दौरान राहुल गांधी लोकसभा चुनाव का माहौल भी खड़ा करना चाहते हैं। यही कारण है कि वे कुछ चुनावी वादे भी करके जाएंगे। खासतौर पर किसान आंदोलन को देखते हुए वे MSP का वादा कर सकते हैं। किसान आंदोलन का फायदा उठाने के लिए कांग्रेस भी ब्लॉक से लेकर जिले तक आंदोलन करने जा रही है।

देखें पूरा शेड्यूल: राहुल गांधी, कब, कितने बजे, क्या करेंगे
राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारी में एमपी कांग्रेस के नेता तेजी से जुट गए हैं। जारी शेड्यूल के मुताबिक,  दो मार्च को राजस्थान के बाड़मेर से दोपहर 1.30 बजे राहुल गांधी मुरैना जिले की सीमा में प्रवेश करेंगे। मुरैना के पिपरई गांव में जेबी ढाबे के पास देवपुरी बाबा पर आमसभा होगी। मुरैना कस्बे के अंडर ब्रिज के पास कांग्रेस कार्यकर्ता स्वागत करेंगे। ग्वालियर में चार शहर के नाके से हजीरा चौक तक रोड शो होगा। हजीरा चौराहे पर राहुल गांधी नुक्कड़ सभा को संबोधित करेंगे। ग्वालियर में गोल्डन लोटस गार्डन में राहुल गांधी रात्रि विश्राम करेंगे।

तीन मार्च को ग्वालियर में रहेगी यात्रा
तीन मार्च को सुबह 8.30 बजे राहुल की यात्रा का ग्वालियर के घाटीगांव और मोहना गांव में स्वागत होगा। इसके बाद ग्वालियर के मोरखेड़ा में सहरिया जनजाति के लोगों से संवाद करेंगे। ग्वलियर के सतनवाड़ा में स्वागत होगा। इसके बाद शिवपुरी के बाबू क्वार्टर से झांसी रोड तिराहे से शिवपुरी तक रोड शो होगा। शिवपुरी से यात्रा का कोलारस, लुकवासा में स्वागत होगा। बदरवास में संबोधन होगा। शिवपुरी के ईश्वरी गांव में यात्रा रात्रि विश्राम करेगी।

न्याय यात्रा चार मार्च को गुना से राजगढ़ पहुंचेगी
चार मार्च को सुबह 8.30 बजे गुना के म्याना से यात्रा शुरू होगी। सुबह 9.30 बजे गुना में हनुमान चौराहे से एचपी पेट्रोल पंप तक रोड शो होगा। सुबह 11 बजे गुना के रूठियाई में स्वागत होगा। गुना के राघौगढ़ में साड़ा कॉलोनी से नया बस स्टैंड तक रोड शो होगा।  दोपहर 2 बजे यात्रा गुना के बीनागंज पहुंचेगी। शाम 5 बजे राजगढ़ के ब्यावरा में पीपल चौराहे पर नुक्कड़ सभा होगी। राजगढ़ के भाटखेडी में यात्रा रात्रि विश्राम करेगी।

पांच और छह मार्च को यात्रा इन जिलों में रहेगी
इसके बाद पांच मार्च को न्याय यात्रा का राजगढ़ के पचोर, सारंगपुर में स्वागत होगा। सुबह 11.30 बजे शाजापुर के टंकी चौराहा से एचपी पेट्रोल पंप तक रोड शो होगा। दोपहर 12 बजे शाजापुर के मक्सी में स्वागत होगा। संस्कार पब्लिक स्कूल में लंच होगा। दोपहर बाद यात्रा उज्जैन पहुंचेगी। राहुल गांधी महाकाल के दर्शन करेंगे। शाम 5 बजे उज्जैन के उज्जैन गेट से देवास गेट तक रोड शो होगा। उज्जैन के मुल्लापुरा में यात्रा का रात्रि विश्राम होगा। छह मार्च को धार में सुबह अलग-अलग वर्गों के प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे। दोपहर 1 बजे धार जिले के बदनावर में आदिवासी सभा होगी। रतलाम के सैलाना होते हुए यात्रा राजस्थान के बाड़मेर जिले में प्रवेश करेगी।

यात्रा की तैयारी और व्यवस्था के लिए बनाई 22 कमेटी
बता दें कि पिछले दिनों भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारियों और व्यवस्थाओं के संचालन के लिए कांग्रेस ने 22 कमेटियों का गठन किया था। इन कमेटियों में लगभग 50 नेताओं को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है। जानें किस नेता को कौन सी जिम्मेदारी दी गई।
जानें किस कमेटी में कौन सा नेता शामिल

प्लानिंग कमेटी-  

    पीसीसी चीफ जीतू पटवारी
    नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार
    पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ
    राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह
    पूर्व अध्यक्ष सुरेश पचौरी
    कांतिलाल भूरिया
    अरुण यादव
    डॉ. गोविंद सिंह
    अजय सिंह
    सांसद नकुल नाथ
    राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा
    राजमणि पटेल
    ओमकार मरकाम
    कमलेश्वर पटेल
    सत्य नारायण पटेल
    नीलांशु चतुर्वेदी

पब्लिसिटी कमेटी –

    सचिन यादव
    भूपेन्द्र गुप्ता

कम्युनिकेशन कमेटी-

    रवि जोशी
    अशोक सिंह
    विशाल पटेल

रूट कमेटी –

    प्रियव्रत सिंह
    विपिन बानखेड़ी

मीडिया कमेटी-

    केके मिश्रा
    अभय दुबे

सोशल मीडिया कमेटी-

    अभय तिवारी
    अभिनव बारोलिया

कंट्रोल रूम कमेटी-

    चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी

सिविल सोसायटी कॉर्डिनेशन कमेटी-

    मीनाक्षी नटराजन

प्रोग्राम एवं इंटरेशन कमेटी-

    सुखदेव पांसे
    राजेन्द्र कुमार सिंह

इंफ्रास्ट्रक्चर और कैंपिंग कमेटी-

    लखन सिंह यादव
    साहब सिंह गुर्जर

मोबिलाइजेशन कमेटी-

    रामनिवास रावत
    कुणाल चौधरी
    विक्रांत भूरिया
    विभा पटेल
    योगेश यादव
    आशुतोष चौकसे

पब्लिक मीटिंग कमेटी-

    सज्जन सिंह वर्मा
    दिनेश गुर्जर

ट्रैफिक मैनेजमेंट-

    कमेटी रजनीश सिंह
    योगेश यादव

ट्रांसपोर्टेशन कमेटी –

    सतीश सिकरवार
    अक्षम बंब

परमिशन कमेटी-

    उमंग सिंघार
    हेमंत कटारे

फूड कमेटी-

    संजय शुक्ला
    संजय शर्मा
    जगत बहादुर सिंह

न्याय यात्रा कॉर्डिनेशन कमेटी –

    शोभा ओझा
    मृणाल पंत

प्रवेश पास कमेटी-

    प्रकाश जैन
    गौरव रघुवंशी

पार्टिसिपेट कमेटी-

    सैयद जफर
    स्वप्निल कोठारी

सिक्युरिटी कमेटी-

    हेमंत कटारे
    श्याम श्रीवास्तव
    व्हीके बाथम
    यासिर हसनात सिद्धकी

हेल्थ कमेटी-

    डॉ. जीसी गौतम
    डॉ. सुदीप पाठक

लीगल कमेटी-

    शशांक शेखर
    जय हर्डिया