जबलपुर रेलवे स्टेशन 6 की जगह अब 8 प्लेटफाॅर्म का होगा, होंगी विश्वस्तरीय सुविधाएं

जबलपुर

भोपाल के रानी कमलापति के बाद अब जबलपुर रेलवे स्टेशन को भी वर्ल्ड क्लास बनाया जाएगा. करीब 497.95 करोड़ रुपए की लागत से जबलपुर रेलवे स्टेशन (Jabalpur Railway Station) में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी. खास बात यह है कि स्टेशन के अपग्रेडेशन कार्य का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 फरवरी को वर्चुअल माध्यम से शिलान्यास करेंगे.

पश्चिम मध्य रेलवे के सीपीआरओ हर्षित श्रीवास्तव ने एबीपी लाइव को बताया कि रेलवे ने 26 फरवरी को स्थानीय स्तर पर समारोह आयोजित करने को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं. इस दौरान पश्चिम मध्य रेलवे के 12 स्टेशनों का शिलान्यास, 14 आरओबी और आरईबी का शिलान्यास, 7 आरओबी और एलएचएस का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल मोड से करेंगे.

अमृत भारत योजना के तहत जबलपुर रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाया जा रहा है. इसके डिजाइन में दूसरी बार बदलाव किया गया है. पहले स्टेशन में यात्री सुविधाओं से लेकर प्लेटफॉर्म के विस्तार तक का काम होना था और अब इसमें बदलाव किया गया है. जिसके चलते दो नए प्लेटफॉर्म बनाए जाएंगे. इसके बाद यहां प्लेटफॉर्म की संख्या 6 से बढ़कर 8 हो जाएगी. नई स्टेशन बिल्डिंग भी बनाई जाएगी. जबलपुर रेलवे स्टेशन को रानी कमलापति स्टेशन की तर्ज पर विकसित किया जाएगा.

वर्ल्ड क्लास होने में कितनी आएगी लागत?

रेलवे सूत्रों ने बताया कि स्टेशन को करीब 497.95 करोड़ रुपए से विश्वस्तरीय लुक दिया जाएगा. गौरतलब है कि जबलपुर स्टेशन को दो साल पहले ही करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपए की लागत से नया लुक दिया गया था. इस नए कार्य का उद्घाटन भी नहीं हो सका था, उसके पहले ही नए कार्य करने के लिए करीब साढ़े तीन सौ करोड़ रुपए की कार्ययोजना बनाकर प्रस्ताव रेलवे बोर्ड भेजा गया था. इसके सुधार के सुझाव के साथ ही बोर्ड ने प्रस्ताव वापस भेज दिया. अब नए सिरे से प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है, जिसमें सुधार के बाद इसकी लागत भी पांच सौ करोड़ रुपए के करीब पहुंच गई है.

स्टेशन बिल्डिंग में भेड़ाघाट और धुआंधार का नजारा

रेलवे के नए प्रस्ताव में विश्वस्तरीय सुविधा के साथ ही सौंदर्याकरण पर भी फोकस किया जा रहा है. नए भवन के सामने वाले हिस्से में जबलपुर के विश्व प्रसिद्ध पर्यटक स्थल भेड़ाघाट और धुआंधार का मनमोहक दृश्य होगा. इसके अलावा वाटर फॉल का भी नजारा दिखाई देगा, जो दूधिया रोशनी में जगमगाएगा.

जबलपुर रेलवे स्टेशन में दो मल्टीलेवल पार्किंग

नए प्रस्ताव में पार्किंग सिस्टम पर भी फोकस किया गया है. पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए पार्किंग स्पेस बढ़ाया जा रहा है. इसके अलावा दो मल्टीलेवल पार्किंग का भी प्रावधान किया गया है, जिसके तहत एक मल्टीलेवल पार्किंग प्लेटफॉर्म नंबर-1 और दूसरी प्लेटफार्म नंबर-6 की ओर बनाई जाएगी.

भविष्य की जरूरतों के हिसाब से प्लानिंग

रेलवे सूत्रों की मानें तो रेलवे स्टेशन में जो भी कार्य कराए जाएंगे वह आगामी 50-60 वर्षों की जरुरतों को ध्यान में रखकर होंगे. यात्री सुविधाओं को बेहतर बनाया जाएगा, जिसमें रिटायरिंग रूम, मल्टीलेवल पार्किंग, वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी, वेटिंग लाउंज का निर्माण और अतिरिक्त एस्केलेटर का निर्माण भी शामिल है.

75 मीटर का रूफ प्लाजा

बताया जाता है कि पीएल विस्तार के साथ ही नई बिल्डिंग का निर्माण कराया जाएगा, जिसमें कॉनकोर्स एरिया के लिए करीब 75 मीटर चौड़ा रूफ प्लाजा होगा. जिसे दोनों तरफ की स्टेशन की बाउंड्री को जोड़ा जाएगा. इसके नीचे ही यात्री प्रतीक्षालय के साथ ही वेटिंग लाउंज और कमर्शियल एक्टिविटी संचालित होगी.