लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ में कराना चाहते हैं, डर गए नीतीश चाचा, तेजस्वी का आरोप

पटना.

जनविश्वास यात्रा के दौरान बेतिया पहुंचे राजद नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि सीएम नीतीश कुमार विधानसभा भंग कराकर लोकसभा के साथ चुनाव कराना चाहते हैं। नीतीश कुमार अब थक चुके हैं और काफी बूढ़े हो गए हैं। उनसे सरकार नहीं चल रही है। वह कब किधर और किस समय पलटी मार देंगे, यह कहना मुश्किल है। तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि चाचा को सिंहासन से बहुत प्यार है।

उन्होंने कहा कि मैंने 2020 के विधानसभा चुनाव में आपसे वादा किया था कि यदि मेरी सरकार बनी तो सबसे पहले मैं सत्ता संभालते ही 10 लाख सरकारी नौकरियां अपनी कलम से दूंगा। दुर्भाग्यवश सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद हम सत्ता से दूर हो गए। इधर, चाचा ने मेरी मां से माफी मांगते हुए कहा कि आप मेरे साथ आ जाइए। भाजपा वाले मेरी पार्टी को तोड़ना चाहते हैं। जब मै उपमुख्यंत्री बना तो मात्र 17 माह में 5 लाख नौकरियां दी। यदि एक साल और रहता तो पांच लाख और नौकरियां दे देता।

राजद माय के साथ बाप की भी पार्टी है
तेजस्वी ने एक बार फिर दोहराया कि कहा राजद केवल माय (MY) की ही पार्टी नहीं है, बल्कि बाप (BAAP) की भी पार्टी है। उन्होंने कहा कि मेरे ही कार्यकाल में किसानों के गन्ना के मूल्य में 20 रुपया प्रति क्विंटल के दर से रुपया बढ़ाया गया है, जिससे 2400 करोड़ रुपए का फायदा किसानों को हुआ है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला। कहा कि मोदी जी ने 10 वर्षों में पश्चिमी चंपारण में कोई कारखाना स्थापित नहीं किया है। और, न ही यहां के लोगों के लिए रोजगार का कोई अवसर पैदा किया है। उन्होंने जनता से आग्रह किया कि आप सब नया बिहार बनाने में राजद को मजबूत बनावें और हम विश्वास दिलाते हैं कि आपकी आकांक्षाओं पर निश्चित तौर पर हमलोग खरा उतरेंगे।