केले के फूल के 5 बीमारियों पर असरदार लाभ

दुनिया में पहले से कई सौ बीमारियां मौजूद हैं और वक्त के साथ कोई न कोई नई बीमारी जन्म ले लेती है। मगर क्या आप जानते हैं कि सबसे ज्यादा जान लेने वाली बीमारियों के नाम क्या हैं? अगर नहीं तो इस आर्टिकल में सबसे ज्यादा खतरनाक बीमारियों में से 5 के बारे में बताया जा रहा है। इनसे बचने के लिए आपको उचित कदम उठाने चाहिए।

जानलेवा बीमारियों के नाम: हार्ट डिजीज, कैंसर, डायबिटीज, ऑस्टियोपोरोसिस और मोटापा की वजह से हर दिन कई लोग अपनी जान गंवा देते हैं। हाई एलडीएल कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड शुगर, खराब डायजेशन और लो बोन मास की वजह से ये खतरनाक बीमारियां बनती हैं। मगर केले का फूल खाने से इन कारणों को दूर रखा जा सकता है।

गंदे कोलेस्ट्रॉल को रखेगा कम

हार्ट अटैक का सबसे बड़ा कारण गंदे कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना है। यह नसों में जाकर जम जाता है, फिर रक्त प्रवाह को ब्लॉक कर देता है। इसे कम करने के लिए अत्यधिक फैट देने वाले फूड्स से बचने के साथ केले के फूल का सेवन कर सकते हैं। एक शोध (ref.) के मुताबिक, इसके अंदर स्टेरोल्स होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल घटाने के लिए जाने जाते हैं।

ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

केले के फूल का अंदरुनी हिस्सा खाने लायक होता है। इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं कि इससे डायबिटीज भी कंट्रोल रखी जा सकती है। यह आपके ब्लड शुगर लेवल को तेजी से ऊपर-नीचे जाने से रोकता है। जिससे आप एक हेल्दी लाइफस्टाइल जी पाते हैं।

केला खाने के फायदे

बीपी कंट्रोल करने से लेकर स्ट्रेस दूर करने तक इतना फायदेमंद है केला

गट हेल्थ रहेगी चंगी

मोटापा और कैंसर जैसी बीमारियों के पीछे खराब गट हेल्थ बहुत बड़ा योगदान करती है। केले का फूल इनसॉल्यूबल और सॉल्यूबल दोनों तरह के फायदे देता है। यह गट फ्रेंडली होते हैं और हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। यह हेल्दी बैक्टीरिया कैंसर और मोटापे का खतरा घटा देते हैं।

बोन लॉस का इलाज

हड्डियों की बीमारियों के लिए भी केले का फूल इस्तेमाल किया जाता है। यह बोन लॉस रोकता है और जोड़ों में दर्द जैसी समस्याओं से बचाता है। टेस्ट ट्यूब स्टडी में देखा गया है कि इसके कैटेचिन और क्वेरसेटिन एंटीऑक्सीडेंट बोन मास को गिरने से बचाते हैं।

पुरुषों के लिए वरदान

उम्र बढ़ने पर पुरुषों को प्रोस्टेट बढ़ने की दिक्कत हो जाती है। यह अक्सर 50 से ज्यादा उम्र के पुरुषों को होती है जिसमें पेशाब की धार कमजोर होना, पेशाब लीक होना जैसे लक्षण दिखते हैं। इस आयुर्वेदिक फूल में एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो प्रोस्टेट का साइज कम करते हैं।

केले के फूल का पोषण

कार्ब्स
कैलोरी
प्रोटीन
फाइबर
पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक और कॉपर की मात्रा