नौजवानों को नौकरियों के लिए विदेश जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा, देश में मृतकाल चल रहा : कन्हैया कुमार

नई दिल्ली
कांग्रेस ने रूस में 20 भारतीय नागरिकों के फंसे होने को लेकर शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि अपने देश में ‘मृतकाल' चल रहा है, जिस वजह से नौजवानों को नौकरियों के लिए विदेश जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। पार्टी नेता कन्हैया कुमार ने यह भी कहा कि देश में पिछले 10 साल में बेरोजगारी दर दोगुनी हो गई है तथा हर घंटे एक नौजवान आत्महत्या कर रहा है।

विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा था कि सरकार रूसी सेना में सहायता कर्मी के रूप में काम कर रहे करीब 20 भारतीय नागरिकों को ‘जल्द से जल्द सुरक्षित वापस' लाने की पूरी कोशिश कर रही है। कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘रूस में भारतीय नौजवानों को बंधक बनाकर रखा गया है, क्योंकि अपने देश में नौजवानों के लिए ‘मृतकाल' चल रहा है। यदि मोदी सरकार हर साल 2 करोड़ नौकरियां देती, तो नौजवानों को विदेश न जाना पड़ता।''

10 साल में बेरोजगारी दर दोगुनी हो गई
उन्होंने कहा, ‘‘रूस के पास स्थायी सेना नहीं है, वहां सेना कॉन्ट्रैक्ट पर चलती है। उसी तरह अब हमारे देश में भी 'अग्निवीर' का मॉडल लाया गया है।'' कुमार ने सवाल किया, ‘‘अगर देश के नौजवान अपने देश के लिए शहादत देते हैं, तो यह देशभक्ति है..लेकिन दूसरे देश की लड़ाई में भारतीय नौजवानों को क्यों जाना पड़ रहा है?'' उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘हमारे देश में नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। देश में पिछले 10 साल में बेरोजगारी दर दोगुनी हो गई है। केंद्रीय विभागों में लाखों पद खाली हैं और सरकारी क्षेत्रों की हालत काफी खराब है।''

एक घंटे में 2 नौजवान आत्महत्या कर रहे
कुमार ने दावा किया देश में बेरोजगारी के हालात ऐसे हैं कि एक घंटे में 2 नौजवान आत्महत्या कर रहे हैं। उनका कहना था, ‘‘देश के नौजवानों की मजबूरी का फायदा उठाकर, विदेश के सपने दिखाकर युवाओं को इजराइल में मजदूरी के लिए भेज दिया गया। इस तरह देश के युवाओं के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। '' उन्होंने दावा किया, ‘‘इन सबके बीच ‘विश्वगुरु' होने का दावा किया जाता है, लेकिन आप 'विष गुरु हैं, क्योंकि आप नौजवानों के भविष्य में जहर घोल रहे हैं।''