पीएम किसान किस्‍त हुई है रिजेक्‍ट तो कारण क्‍या हो सकते हैं

नई दिल्‍ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 फरवरी को महाराष्ट्र के यवतमाल में थे। उन्‍होंने इस दौरान 9 करोड़ से ज्‍यादा किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) स्‍कीम की 16वीं किस्त जारी की। यह रकम 21,000 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की है। डीबीटी के जरिये यह पैसा पीएम किसान लाभार्थियों को उनके बैंक खाते में भेजा जाएगा। पीएम किसान स्‍कीम में लाभार्थी अपने नाम को ऑनलाइन चेक कर सकते हैं। अगर खाते में पैसा नहीं पहुंचता है तो इसके कुछ संभावित कारण हो सकते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कि स्‍कीम में अपना नाम कैसे चेक किया जा सकता है। पैसे नहीं पहुंचने के क्‍या कारण हो सकते हैं। इसके ल‍िए श‍िकायत कहां की जा सकती है।
पीएम किसान में लाभार्थी लिस्‍ट में अपना नाम कैसे चेक करें?

स्‍टेप 1: पीएम किसान की ऑफिशियल वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।
स्‍टेप 2: पेज के दाहिने कोने में 'बेनिफिशयरी लिस्‍ट' टैब पर क्लिक करें।
स्‍टेप 3: ड्रॉप-डाउन से विवरण चुनें जैसे राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव।
स्‍टेप 4: 'गेट रिपोर्ट' टैब पर क्लिक करें।
लाभार्थी सूची का विवरण डिस्‍प्‍ले किया जाएगा।

पीएम किसान किस्‍त रिजेक्‍ट होने के कारण क्‍या हो सकते हैं?

1. डुप्लिकेट लाभार्थी नाम
2. केवाईसी पूरा न होना
3. एक्‍सक्‍लूजन कैटेगरी से जुड़े किसानों को रिजेक्‍ट कर दिया जाएगा
4. आवेदन पत्र भरते समय गलत IFSC कोड
5. बैंक अकाउंट बंद या मान्य नहीं, अकाउंट ट्रांसफर किया गया, ब्‍लॉक या फ्रीज हैं
6. लाभार्थियों का आधार कार्ड बैंक खाते से लिंक नहीं होना
7. अनिवार्य फील्‍ड वैल्‍यू गुम होना
8. अमान्य बैंक, डाकघर का नाम
9. लाभार्थी खाता संख्या लाभार्थी कोड और योजना से संबंधित नहीं होना
10. खाता और आधार दोनों अमान्य होना

पीएम किसान – शिकायत कैसे दर्ज करें?

अगर कोई भी पात्र किसान जिन्हें पीएम किसान के तहत अपनी 2,000 रुपये की 15वीं किस्त नहीं मिली है तो वे पीएम किसान हेल्पडेस्क में शिकायत दर्ज करा सकते हैं। सोमवार से शुक्रवार तक आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं। आप ईमेल भेजकर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

ईमेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in. और pmkisan-funds@gov.in या
पीएम-किसान हेल्पलाइन नंबर 155261 / 011-24300606
पीएम किसान टोल-फ्री नंबर 1800-115-526 है।

पीएम किसान-ईकेवाईसी कैसे पूरा करें?

(i) ओटीपी बेस्‍ड ई-केवाईसी (पीएम-किसान पोर्टल और मोबाइल ऐप पर उपलब्ध)
(ii) बायोमेट्रिक बेस्‍ड ई-केवाईसी (कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) और राज्य सेवा केंद्र (एसएसके) पर उपलब्ध)
(iii) फेस ऑथेंटिकेशन-बेस्‍ड ई-केवाईसी (पीएम किसान मोबाइल ऐप पर उपलब्ध है जिसका उपयोग लाखों किसान करते हैं)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना क्या है?

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) दुनिया की सबसे बड़ी डायरेक्‍ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) स्‍कीमों में से एक है। इस योजना के तहत पंजीकृत पात्र किसान परिवारों को हर साल 6,000 रुपये की रकम मिलती है। डीबीटी सिस्‍टम का इस्‍तेमाल करके हर चार महीने में तीन समान किस्तों में किसानों के बैंक खातों में किस्‍त डाली जाती है।