दिल्ली के चार सांसदों के टिकट काट पार्टी ने इस बार नए चेहरों पर भरोसा जताया, आप ने भाजपा पर निशाना साधा

नई दिल्ली
देश में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने दिल्ली के चार सांसदों के टिकट काट दिए हैं। इनकी जगह पर नए प्रत्याशियों को मौका दिया गया है। अब आम आदमी पार्टी ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए भाजपा पर निशाना साधा है। AAP नेता और दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, 'उनलोगों (भाजपा सांसदों)ने कभी जनता के लिए काम नहीं किया है। जब कभी भी आम लोगों को ध्वस्तीकरण, दुकानों की सीलिंग या कानून-व्यवस्था से जुड़ी समस्याएं आईं तो यह सांसद आम लोगों के लिए उपबल्ध नहीं थे। 5 साल के लिए आपने (बीजेपी) किसी को जनता पर थोप दिया। आप उन्हें इसलिए हटा रहे हैं क्योंकि वो अब किसी काम के नहीं रह और नए लोगों को जनता पर थोप रहे हैं। बीजेपी को इसका जवाब देना होगा।'

बता दें कि बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए अपने उम्मीदवारों का ऐलान किया है। पार्टी ने दिल्ली की चार सीटों पर अपने मौजूदा सांसदों को टिकट नहीं दिया है। दो बार के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन चांदनी चौक लोकसभा सीट से सांसद हैं लेकिन पार्टी ने उनका टिकट काट कर इस बार प्रवीम खंडेलवाल को दिया है। पश्चिमी दिल्ली सीट से परवेश वर्मा की जहह कलमजीत सहरावत को टिकट दिया गया है।

दक्षिणी दिल्ली से बीजेपी ने रमेश बिधूड़ी का टिकट काटा है और रामवीर सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। दिल्ली की एक औऱ अहम लोकसभा सीट नई दिल्ली लोकसभा सीट पर भी बीजेपी ने पार्टी की मौजूदा सांसद मिनाक्षी लेखी का टिकट काट बांसुरी स्वराज को दिया है। माना जा रहा है कि बीजेपी ने टिकट बंटवारे में अब तक के यह अहम बदलाव काफी सोच-विचार के बाद किए हैं। पार्टी ने इस बार नए चेहरों पर भरोसा जताया है।

इधऱ इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता संदीप क्षीक्षित ने कहा बीजेपी ने संसदीय परंपराओं को खत्म कर दिया है। ना तो ये कोई समस्याएं उठाते हैं और ना ही जनता की बात वहां तक रखते हैं। बीजेपी किसी को टिकट दे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। यह पहला मौका है जब सांसद जनता के प्रति समर्पित ना रहकर अफने प्रधानमंत्री के प्रति समर्पित है।