पॉक्सो अदालत में हुई पुलिस अफसर की पेशी, पत्नी ने आरोपी पति को जेल की सलाखों तक पहुंचाया

गया.

नाबालिग लड़की से रेप मामले में गया सेन्ट्रल जेल में बंद गया के तत्कालीन डीएसपी कमलाकांत प्रसाद को गया कोर्ट के पोक्सो न्यायालय में पेश किया गया। पेशी के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जेल भेजा गया। बीते सप्ताह ही आरोपी डीएसपी ने गया कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। उसके बाद से जेल की हवा खा रहे है। आरोपी डीएसपी पर नाबालिग लड़की से रेप करने का आरोप था।

मामला प्रकाश में आने के बाद तत्कालीन एसपी हरप्रीत कौर ने फरार डीएसपी पर पांच हजार का इनाम घोषित किया था। यह मामला 2021 का है। जिसमें उस पर सरकारी क्वार्टर में नाबालिग लड़की के साथ रेप करने का आरोप लगा था। नाबालिग रेपकांड के आरोपी डीएसपी कमलाकांत प्रसाद ने बीते मंगलवार को गया कोर्ट के न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में आत्मसमर्पण किया था।

डीएसपी कमलाकांत प्रसाद को बिहार सरकार के गृह विभाग ने निलंबित कर दिया था
2021 में जब कमलाकांत डीएसपी पद पर गया में पदस्थापित थे, उन्होंने अपने सरकारी क्वार्टर में एक नाबालिग के साथ घृणित कार्य किया था। उस वक्त यह मामला दब गया था। लेकिन, जैसे ही उनका गया से दूसरे स्थान पर तबादला हुआ, यह मामला सबके सामने आ गया। पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए डीएसपी मुख्यालय की पत्नी सामने आई थी। पीड़िता को लेकर पुलिस मुख्यालय और कमजोर वर्ग आयोग के पास पहुंची थी। उसके बाद पुलिस मुख्यालय और कमजोर वर्ग आयोग के निर्देश पर गया के महिला थाना में डीएसपी मुख्यालय कमलाकांत प्रसाद के खिलाफ 18/2021 के तहत एफआईआर दर्ज की गई। उसके बाद नाबालिग के साथ रेप कांड के आरोपी सीनियर डीएसपी कमलाकांत प्रसाद को बिहार सरकार के गृह विभाग ने निलंबित कर दिया था।

आरोपी की गिरफ्तार के लिए गया एसएसपी ने की थी इतने इनाम की घोषणा
पुलिस मुख्यालय की अनुशंसा के बाद गृह विभाग ने उनके निलंबन की कार्रवाई पर मुहर लगाई थी। हालांकि उसके बाद गया पुलिस आरोपी डीएसपी कमलाकांत प्रसाद की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश बनाते रही। लगातार छापेमारी के बाद भी आरोपी डीएसपी पुलिस के हाथ नहीं लग रहे थे। तब तत्कालीन एसएसपी हरप्रीत कौर ने आरोपी डीएसपी कमलाकातं प्रसाद पर पांच हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया था।