EVM स्ट्रांग रूम में गार्ड ने किया था सुसाइड, भोजपुर डीएम-SP के बाद आयोग ने ASP और SHO को किया सस्पेंड

भोजपुर.

बिहार के भोजपुर में स्ट्रांग रूम के बाहर तैनात जवान की मौत के बाद चुनाव आयोग ने डीएम और एसपी का तबादला बीते दिन मंगलवार को कर दिया था। अब आयोग ने एएसपी और एसएचओ को सस्पेंड कर दिया है। सुसाइड मामले में यह जानकारी भी मिली है कि सुरक्षाकर्मी को छुट्टी नहीं मिली थी, जिसकी वजह से उसने सुसाइड किया था। चुनाव आयोग ने EVM की सुरक्षा पर भी सवाल उठाए हैं। आयोग ने बिहार सरकार को SOP का पालन करने का निर्देश दिया है। आयोग ने चुनावी ड्यूटी में बड़ी लापरवाही का आरोप लगाते हुए यह कार्रवाई की है।

जानकारी के मुताबिक, भोजपुर जिले के नवादा थाने के ईवीएम स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में लगे कांस्टेबल हेमंत कुमार ने 30 मार्च को आत्महत्या की थी। इसकी शिकायत आयोग तक पहुंची। जिसके बाद आयोग ने संबंधित पर्यवेक्षण करने वाले भोजपुर के नवादा थाने के एसएचओ राकेश कुमार सिंह और भोजपुर एएसपी परिचय कुमार को सस्पेंड करने का आदेश दिया। आयोग ने माना है कि ईवीएम स्ट्रांग रूम और सुरक्षा के एसओपी का उल्लंघन हुआ है। सुरक्षाकर्मी की छुट्टी की मंजूरी के सुपरविजन में कमी देखी गई है। आयोग ने आगे कहा है कि इसके लिए बड़े दंड के लिए तत्काल आरोप पत्र जारी किया जाएगा। इसके लिए कोई विकल्प नहीं बचा है। आयोग ने आगे लिखा कि ईवीएम मैनुअल के सब्जेक्ट-2 के पैरा 2.12 में निर्धारित एफएलसी ओके मशीनों की सुरक्षा पूरी नहीं हुई। एफएलसी का उल्लंघन हुआ है। पत्र में कहा गया है कि भोजपुर में प्रथम स्तरीय जांच के बाद ईवीएम वाले एफएलसी स्ट्रांग रूम की 24 घंटे सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए जाने चाहिए थे। इसकी सुरक्षा के लिए राज्य सशस्त्र पुलिस का न्यूनतम एक सेक्शन तैनात किया जाए।

नवादा थाना क्षेत्र के कृषि भवन स्थित VVPAT(EVM) वेयरहाउस में तीन सुरक्षा गार्ड्स की प्रतिनियुक्ति नवंबर 2023 में की गई थी। एक गार्ड छुट्टी पर चला था। 30 मार्च को दूसरा गार्ड सब्जी लाने के लिए बाजार गया था। इसी दौरान तीसरे गार्ड हेमंत कुमार ने इंसास राइफल से गोली मारकर खुदकुशी कर ली। आयोग का मानना है कि जब एक गार्ड छुट्टी पर था, तो तुरंत किसी अन्य की प्रतिनियुक्ति करनी चाहिए थी, जो कि नहीं हुई।