इरेडा ने वित्त वर्ष 2023-24 में सर्वाधिक ऋण मंजूरी दी

बजाज ऑटो की थोक बिक्री मार्च में 25 प्रतिशत बढ़ी

विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि मार्च में 16 वर्ष के उच्चतम स्तर पर
इरेडा ने वित्त वर्ष 2023-24 में सर्वाधिक ऋण मंजूरी दी

नई दिल्ली,
 बजाज ऑटो लिमिटेड की थोक बिक्री में मार्च में सालाना आधार पर 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई जिसमें 3,65,904 इकाइयों का निर्यात भी शामिल है।

बयान के अनुसार, पुणे स्थित वाहन विनिर्माता ने मार्च 2023 में 2,91,567 दोपहिया और वाणिज्यिक वाहन बेचे थे।

मार्च 2024 में कुल घरेलू बिक्री (वाणिज्यिक वाहनों सहित) 18 प्रतिशत बढ़कर 2,20,393 इकाई हो गई, जबकि पिछले साल इसी महीने में 1,86,522 इकाइयां बेची गई थीं।

समीक्षाधीन महीने में कुल निर्यात 39 प्रतिशत बढ़कर 1,45,511 इकाई रहा, जो मार्च 2023 में 1,05,045 इकाई था।

कंपनी ने 31 मार्च 2024 को समाप्त वित्त वर्ष में 4,350,933 इकाइयों की थोक बिक्री की। यह वित्त वर्ष 2022-23 में बेची गई 3,927,857 इकाइयों से 11 प्रतिशत अधिक है।

विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि मार्च में 16 वर्ष के उच्चतम स्तर पर

नई दिल्ली
 उत्पादन और नए ठेकों में मजबूत वृद्धि के दम पर मार्च में भारत के विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि 16 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई।

मौसमी रूप से समायोजित 'एचएसबीसी इंडिया विनिर्माण क्रय प्रबंधक सूचकांक' (पीएमआई) मार्च में बढ़कर 59.1 पर पहुंच गया जो फरवरी में 56.9 था।

पीएमआई के तहत 50 से ऊपर सूचकांक होने का मतलब उत्पादन गतिविधियों में विस्तार है जबकि 50 से नीचे का आंकड़ा गिरावट को दर्शाता है।

एचएसबीसी की अर्थशास्त्री इनेस लैम ने कहा, ‘‘भारत का मार्च विनिर्माण पीएमआई 2008 के बाद से अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। विनिर्माण कंपनियों में मजबूत उत्पादन और नए ठेकों से नियुक्तियां बढ़ीं…''

विनिर्माण उत्पादन मार्च में लगातार 33वें महीने बढ़ा। अक्टूबर 2020 के बाद से यह सर्वाधिक वृद्धि है।

एचएसबीसी इंडिया विनिर्माण पीएमआई को एसएंडपी ग्लोबल ने करीब 400 कंपनियों के एक समूह में क्रय प्रबंधकों को भेजे गए सवालों के जवाबों के आधार पर तैयार किया है।

 

 

इरेडा ने वित्त वर्ष 2023-24 में सर्वाधिक ऋण मंजूरी दी

नई दिल्ली
 इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट (इरेडा) ने वित्त वर्ष 2023-24 में सर्वाधिक ऋण मंजूरी दी।

इरेडा ने बयान में कहा, कंपनी ने वित्त वर्ष 2023-24 में 37,354 करोड़ रुपये के ऋण स्वीकृत किए और 25,089 करोड़ रुपये के ऋण वितरित किए गए।

बयान के अनुसार, ऋण पुस्तिका में 26.71 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। यह एक साल पहले के 47,076 करोड़ रुपये की तुलना में अब 59,650 करोड़ रुपये है।

वार्षिक ऋण स्वीकृतियां 2022-23 में 32,587 करोड़ रुपये से 14.63 प्रतिशत बढ़कर 2023-24 में 37,354 करोड़ रुपये हो गई।

बयान में कहा गया, जनवरी-मार्च 2024 तिमाही में ऋण मंजूरी दोगुनी से भी अधिक होकर 23,796 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 11,797 करोड़ रुपये थी।

इरेडा के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक प्रदीप कुमार दास ने कहा, ‘‘वित्त वर्ष 2023-24 के लिए इरेडा की रिकॉर्ड ऋण मंजूरी और वितरण देश में नवीकरणीय ऊर्जा क्रांति को आगे बढ़ाने की हमारी दृढ़ प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।''

 

 

 

You may have missed