फलस्तीनियों की सहायता के लिए गाजा पहुंचे कई जहाज

इजराइल ने छह माह की सैन्य कार्रवाई के बाद खाली किया अल शिफा अस्पताल, 200 से अधिक आतंकी मारे गए

इजराइली हवाई हमले में दमिश्क में ईरान के वाणिज्य दूतावास की इमारत नष्ट : सीरिया

फलस्तीनियों की सहायता के लिए गाजा पहुंचे कई जहाज

यरुशलम
 इजराइली सेना ने दो हफ्ते की कार्रवाई के बाद गाजा पट्टी के सबसे बड़े अल शिफा अस्पताल को खाली कर दिया है। करीब छह महीने से जारी युद्ध में इजरायली सेना दूसरी बार गाजा सिटी के इस अस्पताल में घुसी थी और वहां पर उसने हमास व इस्लामिक जिहाद के लड़ाकों के खिलाफ कार्रवाई की थी।

इजराइली सेना के अनुसार ताजा कार्रवाई में 200 से ज्यादा आतंकी मारे गए हैं, जबकि 500 को गिरफ्तार किया गया है। हमास ने अस्पताल के भीतर और आसपास मारे गए लोगों का आंकड़ा 400 बताया है। कहा है कि गाजा के सबसे बड़े अस्पताल को इजरायली सेना ने बर्बाद कर दिया है। इजराइली सेना ने बताया है कि दो हफ्ते की कार्रवाई में सैकड़ों आतंकियों को मारा गया और गिरफ्तार किया गया है। बड़ी मात्रा में हथियार और खुफिया दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

कार्रवाई में इजराइली के दो जवान भी मारे गए और कुछ घायल हुए हैं। इस दौरान आमजनों, मरीजों और चिकित्सा कर्मियों को बचाने की अधिकतम कोशिश की गई। जबकि हमास के मीडिया ने बताया है कि इजराइली सेना द्वारा मारे गए 400 लोगों में एक बुजुर्ग महिला डॉक्टर और उनका डाक्टर बेटा शामिल हैं। दो लोगों को फांसी देकर मारा गया है। इतना ही नहीं अस्पताल की इमारत का अंदरूनी भाग जला दिया गया है और कई निर्माणों को बुलडोजर से ढहा दिया गया है।

युद्ध के दौरान इजराइली बमबारी और गोलाबारी के कारण बेघर हुए दसियों हजार लोगों ने अल शिफा अस्पताल के परिसर में शरण ले रखी थी। इजराइली कार्रवाई में उनमें से कई के मारे जाने और गिरफ्तार होने की सूचना है। बताया गया है कि कार्रवाई के चलते ज्यादातर लोग ठिकाना छोड़ गए हैं और अब अस्पताल में पुरानी चीजों का अंबार लगा हुआ है।

इजराइली सेना की कार्रवाई गाजा के कई इलाकों में जारी है। इस कार्रवाई में सोमवार को 63 लोग मारे गए जबकि बीते छह महीनों में करीब 33 हजार लोग मरे हैं।

इजराइली हवाई हमले में दमिश्क में ईरान के वाणिज्य दूतावास की इमारत नष्ट : सीरिया

दमिश्क,
 सीरिया के सरकारी मीडिया ने जानकारी दी कि दमिश्क में ईरान के दूतावास के कांसुलर प्रभाग की इमारत को इजराइली हवाई हमले में नुकसान पहुंचा और इमारत के अंदर मौजूद सभी लोग मारे गए या घायल हो गए।

ईरानी अरबी भाषा के सरकारी टेलीविजन अल-आलम और अरबी क्षेत्र के टेलीविजन स्टेशन अल-मदीन ने कहा कि हमले में ईरानी सैन्य सलाहकार जनरल अली रजा जहदी की मौत हो गई। जहदी ने पहले 2016 तक लेबनान और सीरिया में ईरानी कुलीन कुद्स फोर्स का नेतृत्व किया था। ईरान से हालांकि इस संदर्भ में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

सीरिया के विदेश मंत्री फैसल मेकदाद ने ईरान के राजदूत होसैन अकबरी से मुलाकात के बाद मीडिया को अधिक जानकारी दिए बगैर बताया कि "कई" लोग मारे गए। ईरान के सरकारी टेलीविजन ने कहा कि ईरानी राजदूत का निवास कांसुलर भवन में था, जो दूतावास के बगल में स्थित था।

सरकारी समाचार एजेंसी एसएएनए ने एक अनाम सैन्य स्रोत का हवाला देते हुए कहा कि माज़ेह के कड़ी सुरक्षा वाले इलाके में इमारत जमींदोज हो गई है। राहतकर्मी मलबे के नीचे शवों की तलाश कर रहे हैं। ब्रिटेन स्थित विपक्षी युद्ध निगरानीकर्ता सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि हमले में कम से कम छह लोग मारे गए।

इजरायली सेना ने तुरंत कोई टिप्पणी नहीं की। इजराइल ने हाल के वर्षों में सीरिया के सरकार-नियंत्रित हिस्सों के अंदर ठिकानों पर सैकड़ों हमले किए हैं।

फलस्तीनियों की सहायता के लिए गाजा पहुंचे कई जहाज

दीर अल बलाह
 युद्ध प्रभावित गाजा में फलस्तीनियों की मदद के लिए सैकड़ों टन सहायता आपूर्ति लेकर कई जहाज पहुंचे हैं। साइप्रस के विदेश मंत्री सी. कोम्बोस ने सोमवार को कहा कि तीन जहाजों को सहायता आपूर्ति उतारने की अनुमति मिल गई है।

इजराइल-हमास युद्ध के कारण गाजा की अधिकांश आबादी विस्थापित हो गई है और एक तिहाई निवासी भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। अमेरिका की 'चेरिटी वर्ल्ड सेंट्रल किचन' के मुताबिक, इन जहाजों पर 10 लाख लोगों से अधिक के लिए भोजन की सामग्री लदी हुई है, जिसमें चावल, पास्ता, आटा और सब्जियां शामिल हैं।