भोजशाला सर्वे का 13वां दिन आज धार आएंगी हिन्दू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष रंजना

धार
धार जिले में स्थित भोजशाला वर्सेज कमाल मौला मस्जिद में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) की टीम के सर्वेक्षण का आज 13वां दिन है। हाईकोर्ट के आदेश के तहत पुरातत्व विभाग की सर्वे टीम के साथ बुधवार 03 अप्रैल 2024 को सुबह 8 बजे पर सर्वे दल पहुंचा। उनके साथ हिंदू पक्ष की ओर से याचिकाकर्ता आशीष गोयल और गोपाल शर्मा तथा मुस्लिम पक्ष की ओर से अब्दुल समद भी सर्वे टीम के साथ भोजशाला में दाखिल हुए। संभावना जताई जा रही है कि आज के सर्वे में विशेष रूप से भोजशाला के भीतरी हिस्से में खुदाई हो सकती है। फिलहाल अबतक के सर्वे में कई महत्वपूर्ण सबूत सामने आ चुके हैं।

धार प्रवास पर हिन्दू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष

हिन्दू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष और लखनऊ की एडवोकेट रंजना अग्निहोत्री आज से 3 दिवसीय धार (Dhar) जिले के प्रवास पर रहेंगी। भोजशाला प्रकरण में उच्च न्यायालय इंदौर खंडपीठ में याचिका क्रमांक 10497 को रंजना अग्निहोत्री, आशीष जनक, आशीष गोयल, सुनील सारस्वत और मोहित गर्ग ने ही दाखिल की थी।

भोजशाला के मंदिर होने का दावा

भोजशाला में मंगलवार को एक अन्य मामले के याचिकाकर्ता कुलदीप तिवारी पहुंचे। उस दौरान उन्होंने दावा किया कि सर्वे में सनातनी तलघर मिला है। उन्होंने कहा सर्वे में वो सारी चीज निकली हैं। जब हम भोजशाला में एंटर होते हैं माता सरस्वती का जो गर्भगृह है, उसके दाहिने हाथ की ओर एक जाली नूमा आकृति बनी है। जाली नुमा आकृति के अंदर सीढ़ियां मिली हैं जो तलघर की तरफ जाती है। एक बड़ा सा तलघर है। हमको पूरा विश्वास है कि वहां की तमाम सारी खंडित मूर्तियां तलघर के अंदर रखी मिली हैं। जब हम उसका सर्वे करेंगे तो उसमें बहुत कुछ निकलकर सामने आएगा।

उन्‍होंने बताया कि इसके वहां पर अष्ट चक्र कमल बना हुआ है। तमाम सारे संस्कृत में श्लोक लिखे हैं और शंख बना है। उन्होंने बताया कि खुदाई कार्बन डेटिंग के लिए भी मिट्टी की उम्र जानने की कोशिश की जा रही है। माता सरस्वती का गर्भगृह के दाहिने तरफ हनुमान की मूर्ति दबी मिली है। भोजशाला प्रकरण में हिंदुओं का ही धर्मस्थल है, ऐसा हमें विश्वास है। हिंदू धर्म के सारे प्रतीक चिंह वहां पर दिख रहे तो सर्वे के बाद जब हम कोर्ट में रखेंगे कोर्ट हमारे पक्ष में फैसला देगा।