चुनाव अधिकारी गुजरात में मतदान प्रतिशत बढ़ाने महिलाओं को 20 लाख से अधिक निमंत्रण भेजेंगे

अहमदाबाद,
गुजरात में निर्वाचन अधिकारी लोकसभा चुनाव में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के अपने प्रयास के तहत राज्य भर में मतदाताओं, विशेषकर महिलाओं को 20 लाख से अधिक निमंत्रण भेजेंगे। अधिकारियों ने  यह जानकारी दी।

एक अधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि इस पहल में 13,000 से अधिक ऐसे मतदान केंद्रों को दायरे में लाया गया है जहां पुरुष और महिला मतदाताओं के बीच अंतर 10 प्रतिशत से अधिक है और जहां पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान कुल मतदान 50 प्रतिशत से कम था।

विज्ञप्ति में कहा गया कि गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पी भारती लगभग 20.3 लाख मतदाताओं को निमंत्रण देंगे जिसमें मुख्य रूप से महिलाएं शामिल हैं और उनसे लोकसभा चुनावों में परिवार से साथ मतदान करने का अनुरोध किया जाएगा।

गुजरात की 26 लोकसभा सीटों पर सात मई को तीसरे चरण में मतदान होगा।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में गुजरात में 64.11 प्रतिशत मतदान हुआ, जबकि राष्ट्रीय औसत 67.40 प्रतिशत था।

विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने इन निमंत्रण पत्रों के माध्यम से महिला मतदाताओं से अपील की है कि वे अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकालकर अपने परिवार के साथ मतदान करें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।’

इसमें कहा गया है कि जिला निर्वाचन अधिकारियों को कम मतदान के कारणों पर चर्चा करने और अधिकतम मतदाता भागीदारी सुनिश्चित करने के प्रयास करने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर ‘चुनाव पाठशाला’ आयोजित करने का निर्देश दिया गया है।