पोलैंड के प्रभारी राजदूत सेबेस्टियन डोमजाल्स्की ने गुरुवार को तेलंगाना के मेडक जिले में पोलमोर स्टील फैक्ट्री का दौरा किया

हैदराबाद
भारत में पोलैंड के प्रभारी राजदूत सेबेस्टियन डोमजाल्स्की ने गुरुवार को तेलंगाना के मेडक जिले में पोलमोर स्टील फैक्ट्री का दौरा किया। उन्होंने पोलैंड के महावाणिज्यदूत, अलेक्जेंडर डांडा, पोलैंड के दूतावास में आर्थिक परामर्शदाता, पावेल मोक्रज़ीकी और पोलमोर के प्रबंध निदेशक केवीआर सुब्बा राव के साथ मेडक जिले के कल्लाकल और मुप्पीरेड्डीपल्ली औद्योगिक क्षेत्र में ऑटोमोटिव पार्क में कारखाने का दौरा किया।

प्रतिनिधिमंडल मौजूदा संयंत्र के साथ वर्तमान में निर्माणाधीन नई सुविधा में भी गया। पोलमोर स्टील रेलवे कंपनियों के लिए महत्वपूर्ण घटकों का एक अग्रणी निर्माता है और क्षेत्र में अधिक रोजगार के अवसर पैदा करने का वादा करते हुए, तेलंगाना में एक महत्वपूर्ण विस्तार पहल शुरू करने के लिए तैयार है।

भारत में एक पोलिश कंपनी की प्रगति देखकर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए, डोमज़ाल्स्की ने विकास और रोजगार सृजन के प्रति पोलमोर स्टील की प्रतिबद्धता की सराहना की। उन्होंने केंद्र सरकार की 'मेक इन इंडिया' पहल के साथ कंपनी के जुड़ाव पर प्रकाश डाला और इसकी निरंतर सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं।

सुब्बा राव ने कंपनी की विस्तार रणनीति पर अंतर्दृष्टि साझा की। उन्होंने कहा जैसा कि कई यूरोपीय कंपनियों ने भारत में अपनी उपस्थिति स्थापित की है, पोलमोर स्टील को अपने परिचालन का विस्तार करके इस प्रवृत्ति में योगदान करने पर गर्व है। विस्तार के लिए अतिरिक्त तीन एकड़ जमीन हासिल करने और 25 लाख यूरो की पूंजी लगाने की योजना के साथ, हमारा लक्ष्य अतिरिक्त 100 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करना है।

पोलमोर स्टील के 30 से अधिक कर्मचारी अब पोलैंड में मूल कंपनी में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे हमारे लोगों को यूरोप में काम करने और सीखने तथा यूरोपीय मानक उत्पादों तैयार करने के लिए अपने कौशल के विकास और विस्तार का अवसर मिल रहा है।

तेलंगाना राज्य सरकार और तेलंगाना राज्य औद्योगिक अवसंरचना निगम (टीएसआईआईसी) सहित विभिन्न हितधारकों से प्राप्त समर्थन को स्वीकार करते हुए, सुब्बा राव ने राजदूत, महावाणिज्य दूत और आर्थिक परामर्शदाता का उनकी यात्रा और प्रोत्साहन के लिए आभार व्यक्त किया।