जनसभा के दौरान माइक खराब होने के बावजूद भाषण देने के दौरान वसुंधरा की ना ही लय में कोई असर पड़ा और ना ही बेबाकी पर

बारां
भीड़ खचाखच भरी थी। लोग सुनने को आतुर थे और सुन भी रहे थे, लेकिन तभी माइक खराब हो गया, लेकिन वक्ता ने अपना भाषण जारी रखा और श्रोता भी अपनी जगह से टस से मस नहीं हुए। ये सब हुआ शनिवार को वसुंधरा राजे के साथ।

लोकसभा चुनाव के बीच राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे बारां में पार्टी प्रत्याशी राजा दुष्यंत सिंह के पक्ष में चुनावी सभा कर रही थीं। भीड़ खचाखच भरी थी। संबोधन के दौरान वसुंधरा मोदी सरकार की उपलब्धियों से जनता को अवगत कराकर दुष्यंत के पक्ष में वोट करने की अपील कर रही थीं, लेकिन तभी उनका माइक खराब हो गया।

कार्यक्रम के संयोजकों ने माइक ठीक करने के लिए बुलाया, लेकिन ठीक नहीं हो सका। अब सभी लोगों के जेहन में यही सवाल था कि आखिर वो अपना संबोधन कैसे देंगी?
सभी को लगा कि अब शायद वो यहां से रूखसत हो जाएंगी, लेकिन नहीं, ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने अपना संबोधन धाराप्रवाह जारी रखा।

खास बात रही कि माइक खराब होने के बावजूद भाषण देने के दौरान वसुंधरा की ना ही लय में कोई असर पड़ा और ना ही बेबाकी पर। सभा में मौजूद सभी लोग काफी प्रभावित हुए। उनके संबोधन के दौरान कई दफा लोगों ने बीच-बीच में ताली बजाकर उनके प्रति अपनी सहमति व्यक्त की।