बिहार से 19 साल में जंगलराज का किया खात्मा, नीतीश का तेजस्वी पर तंज और लालू पर निशाना

बांका.

बिहार के बांका में अमरपुर शहर के डुमरामा हाई स्कूल के मैदान में सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी सभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री नीतीश ने राजद प्रमुख तथा पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि 19 वर्षों के कार्यकाल के दौरान बिहार से जंगलराज का खात्मा किया गया है। पूर्व में शाम ढलने के बाद महिलाए घर से नहीं निकलती थी। अब महिलाएं देर रात तक बैखोफ होकर मार्केटिंग करती हैं।

सीएम नीतीश ने कहा कि सड़कों की हालत बद से बदतर थी। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान सड़कों को दुरुस्त करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों को शहर की सड़कों तक जोड़ने का कार्य किया। बिजली, शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था की हालत बद से बदतर थी, जिसमें सुधार करते हुए  ग्रामीण क्षेत्रों में विधालय, उप स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण कराया गया। उन्होंने कहा कि गरीब घर की लड़की आर्थिक स्थिति कमजोर रहने की वजह से पढ़ाई नहीं कर पाती थी। उसमें सुधार करते हुए छात्रवृत्ति योजना, पोशाक योजनाएं, साइकिल योजना चलाकर गरीब और मेधावी छात्र-छात्राओं को शिक्षित करने का कार्य किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब उन्होंने 2005 में सत्ता संभाली थी, उस समय का बजट 24 हजार करोड़ का थी। 19 साल के कार्यकाल में बजट को बढ़ाकर दो लाख 72 हजार करोड़ कर दिया। मैट्रिक पास करने पर दस हजार, इंटर पास करने पर 25 हजार और स्नातक पास करने पर 50 हजार की सहायता राशि छात्राओं को दी जा रही है। नौकरी में महिलाओं को 35 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया, जिस कारण आज बिहार में तीस हजार महिला पुलिस कर्मी हैं जो किसी और राज्य में नहीं हैं। हर घर नल योजना के तहत सभी घरों में जल पहुंचाया गया।

सीएम ने तेजस्वी को बताया दिग्भ्रमित करने वाला
विपक्ष को घेरते हुए उन्होंने कहा कि राजद के राज में कोई कार्य नहीं हुआ है। उन्होंने सात निश्चय के तहत चार लाख लोगों को नौकरी दी है। एक लाख की बहाली होने वाली है, जबकि तीन लाख की बहाली के लिए प्रक्रिया की जा रही है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव चुनावी सभा के दौरान आम लोगों से कहते हैं कि 17 महीने में उन्होंने युवाओं को नौकरी दी है। पर यह सिर्फ उनका चुनावी जुमला आम लोगों को दिग्भ्रमित करने के लिए है। पंद्रह साल की सरकार में जिन्होंने बिहार की जनता के लिए कुछ नहीं किया, वह अब क्या करेंगे?

'19 साल के कार्यकाल में दंगे-फसाद रोके'
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद की सरकार में दंगे-फसाद होते थे। उन्होंने अपने 19 साल के कार्यकाल के दौरान दंगे फसाद रोकते हुए कब्रिस्तान की घेराबंदी कराई। साठ साल से पुराने मंदिर की भी घेराबंदी कराते हुए बिहार में अमन चैन कायम किया। बांका के लिए भी उन्होंने पॉलिटेक्नीक कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज और केंद्रीय विद्यालय समेत अनेकों महत्वपूर्ण कार्य किए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने महिलाओं को लेकर किया यह दावा
नीतीश कुमार ने कहा कि महिलाओं के शिक्षित होने की वजह से प्रजनन दर में काफी कमी आई है। डेढ़ वर्ष पूर्व किए गए सर्वे में प्रजनन दर बिहार की 09.09 प्रतिशत हो गई है। पंचायत चुनाव और नगर निकाय चुनाव में महिलाओं को 50 प्रतिशत तक आरक्षण दिया गया है। महिलाओं को स्वावलंबी बनाने को लेकर स्वयं सहायता समूह का गठन किया गया। विश्व बैंक से कर्ज लेकर जीविका समूह का गठन किया गया, जिसे देश में आजीविका समूह का नाम दिया। आज आजीविका समूह से जुड़कर महिलाएं हर क्षेत्र में बेहतर कार्य कर रही है। उन्होंने आम लोगों से अपील की कि एनडीए के पक्ष में मतदान करें।