इंस्पेक्टर से बदसलूकी करना पड़ा भारी, दरोगा को सस्पेंड कर दिया

कानपुर देहात

यूपी के कानपुर देहात के रूरा थाने में फरियादियों के सामने रविवार को इंस्पेक्टर से बदसलूकी करना दरोगा को भारी पड़ गया। मामले की शिकायत पर एसपी ने सीओ भोगनीपुर की जांच के आदेश दिया। मामला सही पाए जाने के बाद एसपी ने दरोगा को निलंबित कर दिया।

ये मामला रूरा थाना क्षेत्र का है। भिखनापुर गांव में गोबर डालने की जगह को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। इसमें एक पक्ष की शकुंतला, उनकी बेटी अनामिका व बेटा अंशुल और दूसरे पक्ष के श्याम, हर्षित और राम नारायण घायल हो गए थे। मामले में रूरा थाने में तैनात दरोगा राजेश कुमार एक पक्ष का बयान दर्ज कर रहे थे। इस पर इंस्पेक्टर रूरा एसएन सिंह ने दोनों पक्षों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा तो एसआई राजेश थाने में मौजूद तमाम फरियादियों के सामने इंस्पक्टर से बदसलूकी करने लगे। इतना ही नहीं वह हाथापाई तक पर उतर आए।

इंस्पेक्टर ने इसकी शिकायत आला अधिकारियों को की। मामला संज्ञान में आने पर एसपी ने सीओ भोगनीपुर को प्रकरण की जांच करने का निर्देश दिया। इसके बाद थाने पहुंचे सीओ भोगनीपुर ने इंस्पेक्टर रूरा के साथ ही एसआई राजेश कुमार और पुलिस कर्मियों के बयान दर्ज कर रिपोर्ट उपलब्ध कराई। इसके बाद एसपी ने संबंधित दरोगा को निलंबित कर दिया। एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि सीओ की जांच में अनुशासनहीनता की पुष्टि के बाद दरोगा को निलंबित कर दिया गया है।

You may have missed