ठेकेदार और इंजीनियर की चली दबंगई तो नगर में बिना मापदंड के बनाई जा रही है रोड ?

अनूपपुर
नगर पालिका परिषद अनूपपुर के द्वारा टेंडर कर नगर पालिका के वार्डों में सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है! यह निर्माण शिव महिमा कंट्रक्शन रीवा की एक कंपनी ने इसका टेंडर डालकर इस रोड को बनवा रही है !रोड का निर्माण तो किया जा रहा है !मगर नियम और कानून को दरकिनार कर रोड का निर्माण किया जा रहा है! रोड के निर्माण में ना तो मापदंड का ख्याल रखा जा रहा है और ना ही टेंडर के रूल्स के अनुसार इसका निर्माण भी नहीं किया जा रहा है! यह रोड रात के अंधेरे में सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है !जिसमें गिट्टी सीमेंट डिस्ट एवं रेट मिलकर इस रोड का निर्माण किया जा रहा है!

इस रोड के निर्माण पर पानी का छिड़काव नहीं किया जा रहा है !और ना ही यह रोड टेंडर के हिसाब से बनाई जा रही है !यह रोड आनं फानन में बनकर किसी तरह अपने काम को पूरा करने में लगी हुई है! रोड निर्माण के दौरान पाइपलाइन का भी विस्तार किया गया है मगर इस पाइपलाइन विस्तार को भी पूरी तरह से ध्वस्त कर रोड को बनाने में आमादा है !जबकि इंजीनियर की उपस्थिति में मैप के अनुसार इस रोड का निर्माण होना चाहिए ना तो इंजीनियर इसे देखने आते हैं !और ना ही सीएमओ नगर के रहने वाले लोग अपने-अपने घरों के सामने स्वयं पानी डालते हैं जबकि यह पानी ठेकेदार के द्वारा निर्माण के दौरान करना होता है !मगर इन बातों को भी दरकिनार करते हुए रोड बनवाई जा रही है  क्योंकि इंजीनियर भी इनके साथ मिले हुए हैं!

इंजीनियर को भी अच्छी खासी रकम मिल जाएगी क्योंकि यह बिल पास करने में इंजीनियर की भूमिका अनिवार होती है! क्योंकि रोड को हंड्रेड परसेंट देकर रोड को पास कर दिया जाएगा ! और सहमति से बिल का भुगतान भी हो जाएगा हम बात करते हैं तो रेत घटिया किस्म का मिलाकर रोड बनाने की सामग्री में मिक्स किया जाता है साथी नीचे की बेस पूरी तरह से मजबूत नहीं बनाई जा रही है !  बेस मजबूत नहीं होने की वजह से इस रोड की आगे चलकर दुर्दशा होगी! क्योंकि बेस नीचे का मजबूत नहीं है! और गिट्टी रेत एवं टेस्ट मिलकर रोड तो बना दी गई है! यह रोड वार्ड नंबर एक एवं वार्ड नंबर 9 के साथ-साथ अन्य वार्डों में भी इसका निर्माण किया जाना शेष है !अगर इसी तरह शिव महिमा कंट्रक्शन रीवा द्वारा घटिया निर्माण किया गया तो यह रोड नगर में ज्यादा दिन टिकने वाली नहीं होगी ?

इंजीनियर की उदासीनता से ठेकेदार की चली मनमानी

नगर पालिका अनूपपुर के इंजीनियर खुद स्वयं ठेकेदार की गाड़ी में घूमते हैं ! नजर आ रहे हैं क्योंकि जब इंजीनियर इन रोडो को नहीं देखेंगे कि यह ठेकेदार रोड किस हिसाब से बना रहे हैं और ठेके मैं किन-किन सामग्रियों का जिक्र है और किन-किन सामग्रियों से इन रोडो को बनाना है !तथा उनके रोड टेंडर के अनुसार रोडो का निर्माण करना होगा !मगर इंजीनियर की लापरवाही और उनसे साथ गढ़ कर रात के अंधेरे में रोड को बनवाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं?

चेहरा देखकर बनता है ठेकेदार रोड

 टेंडर किस हिसाब से हुआ है और टेंडर के अनुसार ही रोड का निर्माण किया जाना सुनिश्चित है? मगर ठेकेदार अपनी देंगे हने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं? फिर ठेकेदार की अपनी मनमर्जी चली तो किसी का भी रोड बना देंगे चाहे वह मैप के अनुसार उसे रोड का टेंडर हुआ हो या ना हुआ हो मगर रोड अवश्य मनाई जाएगी यह तो इस तरह की बात हो गई कि सैया भाई कोतवाल तो फिर कर डर रहेगा ?

नाली के लिए जगह कहां इंजीनियर साहब?

नगर पालिका के टेंडर के अनुसार रोड का निर्माण तो जरूर किया जाना सुनिश्चित होना चाहिए मगर नियम और दायरे को भी देखकर किसी काम को करना उचित होगा रोड तो बनाई जा रही है? पर रोड के साथ ना तो नाली के लिए कोई जगह छोड़ी जा रही है? और ना ही पानी निकासी के लिए कोई जगह छोड़ी जा रही है? क्योंकि रास्ता बनाना तो अनिवार्य है क्योंकि रास्ते पर आए हुए रोड़ों से निपटना बड़ा मुश्किल सा होगा रोड का निर्माण रात के अंधेरे पर कर दिया जाता है! और जब मोहल्ला वासी सुबह उठते हैं तब उन्हें लगता है कि यह रोड कैसे बन गई तब तक की रोड पूरी तरह से डल चुकी होती है !और इस पर नगर के लोग देखने पर ना तो नाली के लिए जगह है !और ना तो पानी निकासी की जगह है मगर रोड का पूरी तरह से निर्माण कर दिया गया?

ऊपर से दिख रही रोड बढ़िया

आनं फानन में बनी सीसी रोड का निर्माण तो बड़ी दिव्या गति से किया जा रहा है !मगर यह रोड अंदर से उतनी ही खोखली है !रोड ऊपर से देखने पर तो काफी सुंदर दिखाई देती है मगर अंदर से यह उतनी ही जर्जर अवस्था पर खड़ी क्योंकि जिसका बेस ही नीचे का मजबूत ना हो वह ऊपर कैसे मजबूत हो सकती है! समझने की बात यह है कि यह रोड ऊपर से तो बड़ी मजबूत दिखाई दे रही है! ठेकेदार का कहना है कि यह रोड काफी मजबूत तरीके से बनाई गई है मगर यह रोड नीचे से उतनी ही खोखली है! मगर जांच होने के बाद ही इस रोड का पूरी तरह से खुलासा हो सकेगा कि यह रोड कितनी पूर्ण रूप से मजबूत बनाई गई है

वार्ड में असंतुष्ट का वातावरण

नगर के जनप्रतिनिधियों को जब इस बात की भनक लगी तो उन्होंने एक प्रतिनिधि मंडलों के साथ रोड निर्माण के दौरान वहां पहुंचे और रोड किस हिसाब से बनाई जा रही और किन-किन सामग्रियों का इस्तेमाल कर रोड का निर्माण किया जा रहा है मगर उसे रोड की फोटो खींचने लगे तभी ठेकेदार ने कहा कि फोटो मत कीजिए और इंजीनियर के पास मत भेजिए यह रोड काफी मजबूत और टिकाऊ है यह रोड सालों साल चलेगी? मजबूती और टिकाऊ का भरोसा शिव महिमा कंट्रक्शन रीवा का है जहां-जहां हमने रोड बनाई वहां रोड की मजबूती रही कई जनप्रतिनिधियों ने ठेकेदार से सवाल किया तो ठेकेदार भागते नजर आए जब उनकी रोड इतनी मजबूत है तो ठेकेदार इधर-उधर भागते क्यों नजर आ रहे हैं सीसी रोड नगर में निर्माण कराए गए हैं उनके द्वारा उन निर्माण सीसी रोड की जांच होनी चाहिए तभी रोड की गुणवत्ता का पता चल सकेगा कितना गुणवत्ता विहीन है या मापदंड के अनुसार सही है !मगर यह जांच अनूपपुर नगरपालिका के कर्मचारियों को छोड़कर कराई जाए
प्रधानमंत्री आवास पर सुविधा देने का ऐलान हुआ फाइल

भारतीय जनता पार्टी जहां एक और जन-जन को सुविधा पहुंच कर जन-जन का आशीर्वाद प्राप्त करने में लगी है !वहीं उनके वदो को पानी फेर रहे !प्रधानमंत्री आवास योजना प्राप्त हुई है उन्हें सर्वप्रथम रोड लाइट पानी देने का सरकार पूर्ण रूप से वादा कर रही है और यह भी कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को रोड ,लाइट ,पानी देने का वादा कर रही है मगर उनके वादों को नाकाम कर रहे नगरपालिका के अधिकारी गण की उदासीनता से प्रधानमंत्री आवास योजना में नहीं मिला रोड का लाभ वार्ड नंबर 9 मैं प्रधानमंत्री आवास योजना तो हितग्राहियों को प्राप्त हुई पर उनके घर के सामने ही रोड का निर्माण हो रहा हो पर रोड से वंचित प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राही

इंजीनियर और ठेकेदार की साथ गांठ

रोड के निर्माण के पांच दिन बाद पानी का रास्तों पर छिड़काव किया जा रहा है !जब जनप्रतिनिधियों ने इंजीनियर को शिकायत की तो इंजीनियर ने ठेकेदार से साथ गांठ कर उसे जनप्रतिनिधियों की बात कर 5 दिन बाद रोड पर पानी डलवाना शुरू कर दिया जबकि 5 दिन के बाद सीसी रोड पूरी तरह से जम चुकी थी और निर्माण होने के बाद ही पानी का छिड़काव रास्तों पर करना चाहिए था मगर ठेकेदार और इंजीनियर की साथ गांड पर 5 दिन बाद रास्ते पर डलवाया गया पानी

You may have missed