पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर भारत में तापमान में लगातार वृद्धि हो रही है, बिहार पहुंचने वाला है मॉनसून: मौसम विभाग

नई दिल्ली
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में हीटवेव का अलर्ट जारी किया है। अगले चार से पांच दिन अधिकतम तापमान 44 से 46 डिग्री सेल्सियस के बीच बने रहने की संभावना है। हालांकि, मौसम विभाग का कहना है कि अनुकूल स्थितियां बनने लगी हैं और अगले 4-5 दिनों में मॉनसून गति पकड़ सकता है।

आईएमडी के मुताबिक, पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तर भारत में तापमान में लगातार वृद्धि हो रही है। पश्चिम बंगाल, सिक्किम और पूर्वोत्तर भारत में अगले चार से पांच दिनों में बारिश का अनुमान है। पूर्वी मॉनसून भी गति पकड़ सकता है, जो बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में आगे बढ़ेगा। बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश में भी अभी चार-पांच दिनों तक गर्मी का सितम जारी रहेगा। इन राज्यों कुछ इलाकों में भीषण लू चलने की संभावना है।

पहले बिहार फिर यूपी पहुंचेगा मॉनसून
मौसम विभाग ने अपनी ताजा रिपोर्ट में बताया है कि आगामी चार-पांच दिनों के दौरान महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी के कुछ और हिस्सों तथा गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों और बिहार के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। बिहार में आगे बढ़ने के बाद ही मॉनसून के उत्तर प्रदेश में आगे बढ़ने के लेकर स्थिति स्पष्ट होगी। आईएमडी ने बताया है कि 19 जून को पूर्वी उत्तर प्रदेश में गरज-चमक के साथ आंधी चलने और बौछारें पड़ने के आसार हैं। इस दौरान हवा की रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। 20 और 21 जून को पूरे प्रदेश में बारिश होने या गरज चमके साथ बौछारें पड़ने के आसार बन रहे हैं।

चार दिन से गुजरात में आगे नहीं बढ़ा है मॉनसून
आईएमडी के एक अधिकारी ने शनिवार को कहा कि गुजरात में मॉनसून प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण राज्य के अन्य हिस्सों में आगे नहीं बढ़ पाया है। आईएमडी के अहमदाबाद मौसम केंद्र के वैज्ञानिक रामाश्रय यादव ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने 11 जून को दक्षिण गुजरात के नवसारी में दस्तक दी थी, लेकिन प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण यह चार दिन से आगे नहीं बढ़ पाया है।

उन्होंने कहा, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून आमतौर पर 15 जून को गुजरात में प्रवेश करता है और 20 जून तक अहमदाबाद और सौराष्ट्र के कुछ क्षेत्रों सहित अन्य भागों में आगे बढ़ता है। 25 जून तक मॉनसून सौराष्ट्र के अधिकांश भागों में पहुंच जाता है और 30 जून तक यह पूरे गुजरात को कवर कर लेता है। इस बीच, आईएमडी ने अगले पांच दिनों में राज्य के कई जिलों में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है।