AC, पंखे चलाएं या फिर रोज घर में 10 बल्ब जलाएं, बिजली बिल का झंझट ही खत्म, 25 साल तक रहेंगे टेंशन फ्री

नई दिल्ली
गर्मी के कड़े तेवर और बिजली कटौती से बेहाल लोगों के लिए ग्रीन एनर्जी एक बेहतरीन विकल्प बनकर उभरी है। इस समाधान में सोलर पैनल का उपयोग करके आप अपने घर की बिजली की जरूरतें पूरी कर सकते हैं। खास बात यह है कि इसके लिए सरकार की ओर से सब्सिडी भी दी जा रही है। ऐसे में आप ग्रीन एनर्ज  के सहारे बिजली की कौटती और महंगे बिजली बिल से निजात पा सकते हैं। इसके लिए आपको अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवाना होगा। खास बात ये है कि इस काम के लिए सरकार की तरफ से मदद भी मिलेगी। फिर AC, पंखे चलाएं या फिर रोज घर में 10 बल्ब जलाएं, बिजली बिल का झंझट ही खत्म। आइए जानते हैं कैसे आप सोलर पैनल लगवाकर बिजली के महंगे बिलों और कटौती से निजात पा सकते हैं।

सोलर पैनल लगाने का फायदा
सोलर पैनल आपके घर की छत पर लगवाने से आप अपनी जरूरत भर की बिजली खुद उत्पन्न कर सकते हैं। इससे न केवल आपका बिजली बिल कम होगा, बल्कि बिजली कटौती का सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

सरकार कर रही है मदद
अगर आप अपने यहां सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं, तो सरकार इसमें आपकी मदद करेगी। सरकार की ओर से सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी दी जा रही है। एक बार पैसा खर्च कर आप लंबे समय से बिजली कटौती और महंगे बिल की परेशानी से निजात पा सकते हैं। अगर आप अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको ये अनुमान लगाना होगा कि आपकी रोजाना की खपत कितनी है यानी आपको हर दिन कितने यूनिट बिजली की जरूरत है। इसके लिए एक लिस्ट बनाएं कि आपके घर में कौन-कौन से ऐसे उपकरण हैं, जो बिजली से चलते हैं।

अगर आपके घर में 2-3 पंखे, एक फ्रिज, 6-8 LED लाइटें, 1 पानी की मोटर और टीवी जैसे उपकरण बिजली से चलने वाले हैं, तो आपको प्रत्येक दिन 6 से 8 यूनिट बिजली की जरूरत पड़ेगी। फिर उसके अनुसार सोलर पैनल का सेट अपने यहां इंस्टॉल करवाएं। 6 से 8 यूनिट रोजाना बिजली पाने के लिए आप 2 किलोवाट क्षमता का सोलर पैनल अपने घर की छत पर लगवा सकते हैं। इसमें आपको चार सोलर पैनल मिलेंगे। इन्हें मिलाकर लगाना होगा। मोनोपर्क बाइफीशियल सोलर पैनल इस वक्त नए टेक्नोलॉजी के सोलर पैनल हैं। इसमें आगे और पीछे दोनों तरफ से पावर जेनरेट होता है। इस तरह आपको रोजना आपकी जरूरत भर बिजली मिल जाएगी।

सोलर पैनल की लागत अथवा सब्सिडी की जानकारी
आमतौर पर, 1 किलोवाट का सोलर पैनल लगवाने के लिए करीब 90,000 रुपये, 2 किलोवाट के लिए 1.5 लाख रुपये, और 3 किलोवाट के लिए 2 लाख रुपये तक का खर्च आ सकता है। सोलर पैनल की लाइफ 25 साल होती है, जिससे यह एक लंबे समय के लिए फायदे का सौदा साबित होता है। सरकार सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी प्रदान कर रही है। उदाहरण के तौर पर, 1 किलोवाट के लिए आपको 18,000 रुपये, 2 किलोवाट के लिए 30,000 रुपये, और 3 किलोवाट के लिए 78,000 रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है। इतना ही नहीं स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) इस योजना के तहत लोन भी प्रदान कर रहा है। 3 किलोवाट के लिए 2 लाख रुपये तक का लोन 7 फीसदी ब्याज पर मिल सकता है, जिससे आपकी शुरुआती लागत कम हो जाएगी।

सोलर रूफटॉप लगवाने के लिए कैसे करें अप्लाई
पहले ये काम https://solarrooftop.gov.in/ पर लॉगिन करके किया जाता था, लेकिन अब http://pmsuryaghar.gov.in के जरिए भी सोलरपैनल लगावाया जा सकता है। सब्सिडी की बात करें तो पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना के तहत अपनी छत पर सोलर पैनल लगवाने के लिए वाले खर्च में इस योजना के तहत, 1 किलोवाट के लिए 18 हजार रुपये, 2 किलोवाट तक 30,000 रुपये और 3 किलोवाट के लिए कुल सब्सिडी 78,000 रुपये मिल जाती है।

आवेदन की प्रक्रिया
1. सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट [PM Surya Ghar](https://pmsuryaghar.gov.in) पर जाएं।
2. "Apply for Rooftop Solar" विकल्प चुनें।
3. अपने राज्य और बिजली वितरण कंपनी का नाम चुनें।
4. बिजली उपभोक्ता नंबर, मोबाइल नंबर और ईमेल दर्ज करें।
5. नए पेज पर लॉगिन करें और दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए आवेदन प्रक्रिया पूरी करें।
6. फीजिबिलिटी अप्रूवल मिलने के बाद आप अपने DISCOM के साथ रजिस्टर्ड किसी भी वेंडर से सोलर पैनल इंस्टॉल करवा सकते हैं।