आज पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन, कर्नाटक में पेट्रोल की कीमत देश के कई अन्य राज्यों की तुलना बेहद कम: सिद्धारमैया

नई दिल्ली
पेट्रोल और डीजल के दामों में की गई बढ़ोतरी से सियासी घमासान मच गया है। एक तरफ भाजपा ने राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करने की धमकी दी है तो वहीं अब राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कांग्रेस सरकार के इस कदम का बचाव किया। दरअसल, शनिवार को कांग्रेस सरकार ने पेट्रोल में 3 रूपये और डीजल की कीमत में 3.02 रुपये की बढ़ोतरी की है।

देश के अन्य राज्यों से बेहद कम कीमत
पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के एक दिन बाद अब सिद्धारमैया ने सफाई दी है कि कर्नाटक में पेट्रोल की कीमत देश के कई अन्य राज्यों की तुलना बेहद कम है। लोकसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी पर विवाद के बाद सिद्धारमैया ने भाजपा पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि उसने अपने संसाधनों को दूसरे राज्यों में लगा दिया है।

मुख्यमंत्री ने दी सफाई, बता डाले अन्य राज्यों के पेट्रोल के दाम
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर सिद्धारमैया ने भाजपा द्वारा किए जा रहे विरोध पर सफाई दी। उन्होंने लिखा 'कर्नाटक सरकार ने पेट्रोल पर वैट बढ़ाकर 29.84% और डीजल पर 18.44% कर दिया है। इस बढ़ोतरी के बाद भी, हमारे राज्य में पेट्रोल पर टैक्स दक्षिण भारत के अधिकांश राज्यों और महाराष्ट्र जैसे समान अर्थव्यवस्था वाले राज्यों की तुलना में कम है। महाराष्ट्र में पेट्रोल पर वैट 25% प्लस रुपये 5.12 अतिरिक्त कर है और डीजल पर यह 21% है। कर्नाटक की संशोधित दरें अभी भी अधिक किफायती हैं।'

भाजपा पर बोला हमला
भाजपा पर हमला करते हुए सिद्धारमैया ने आगे बताया कि कैसे केंद्र सरकार ने अतीत में वैट समायोजन में हेराफेरी की। उन्होंने कहा, 'तत्कालीन डबल इंजन वाली भाजपा सरकार ने कर्नाटक के संसाधनों को दूसरे राज्यों में भेजने के लिए सहयोग किया। राज्य की भाजपा सरकार पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करती रही, जबकि केंद्र सरकार ने अपने करों में वृद्धि की। इस हेराफेरी के कारण कर्नाटक का राजस्व कम हुआ, जबकि केंद्र सरकार ने अपने खजाने में अधिक धन इकट्ठा किया, जिससे कन्नड़ लोगों को धोखा मिला।'

पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन करेगी भाजपा
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि संशोधित ईंधन शुल्क राज्य सरकार को आवश्यक सार्वजनिक परिवहन के लिए धन जुटाने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, 'कर्नाटक का वैट समायोजन सुनिश्चित करता है कि हम आवश्यक सार्वजनिक सेवाओं और विकास परियोजनाओं को निधि दे सकें। राज्य संतुलित और जिम्मेदार शासन के लिए प्रतिबद्ध है।' इस बीच, विपक्षी भाजपा ने घोषणा की कि वे कर्नाटक में ईंधन की बढ़ोतरी के खिलाफ सोमवार को पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन करेंगे।

कर्नाटक में पेट्रोल और डीजल की कीमतें
पेट्रोल की कीमत में 3 रुपये की बढ़ोतरी हुई है, जिससे बेंगलुरु में इसकी कीमत 102.84 प्रति लीटर हो गई है, जबकि पहले यह 99.84 रुपये प्रति लीटर थी। इसी तरह, डीजल की कीमत में 3.02 रुपये की बढ़ोतरी हुई है, जिससे इसकी प्रति लीटर कीमत 85.93 से बढ़कर 88.95 रुपये हो गई है।