भगवान विश्वकर्मा सृष्टि के वास्तुकार है, वे सभी के लिए पूज्यनीय है:राजस्व मंत्री वर्मा

भोपाल

 

राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा सीहोर जिले के आष्टा में सामूहिक कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए। उन्होंने नव दंपतियों को आशीर्वाद दिया। राजस्व मंत्री वर्मा ने कहा कि सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन सराहनीय है। इससे फिजूल खर्ची नहीं होती और समाज के सभी छोटे-बड़े, अमीर, गरीब परिवारों के वर-वधू सामूहिक रूप से विवाह-सूत्र में बंधते है।

राजस्व मंत्री वर्मा ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा निर्माण और सृजन के देवता हैं। ब्रह्मा ने सृष्टि की रचना के बाद उसके निर्माण और सृजन की जिम्मेदारी भगवान विश्वकर्मा को ही सौंपी थी। विश्वकर्मा का अर्थ होता है विश्व का निर्माता। भगवान विश्वकर्मा ही इस सृष्टि के वास्तुकार हैं, उन्हें दुनिया का पहला इंजीनियर भी माना जाता है। भगवान विश्वकर्मा संपूर्ण मानव जाति के लिए पूज्यनीय है।

राजस्व मंत्री वर्मा ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार सभी समाज सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम कर रही है। आज समाज के हर व्यक्ति को किसी न किसी योजना का लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भी विश्वकर्मा बोर्ड का गठन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कारीगरों और शिल्पकारों को रोजगार से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के नेतृत्व में प्रदेश लोगों के कल्याण के साथ साथ विकास के काम भी तेजी से हो रहे हैं। आज मध्यप्रदेश विकास के मामले में अग्रणी राज्यों में शामिल हो गया है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना, मुख्यमंत्री लाड़ली लक्ष्मी योजना, कन्या विवाह योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत, जैसी अनेकों योजनाओं ने लोगों को चिंता मुक्त किया है। वर्मा ने कहा कि आज महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही है। अब महिलाएं आत्मनिर्भर हो रही हैं और परिवार को चलाने में योगदान दे रही हैं।

You may have missed